Rain Songs लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Rain Songs लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

बरसात में हमसे मिले तुम सजन - Barsaat Mein Humse Mile Tum Sajan (Lata Mangeshkar, Barsaat)



Movie/Album: बरसात (1949)
Music By: शंकर-जयकिशन
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed By: लता मंगेशकर

बरसात में
हमसे मिले तुम सजन
तुमसे मिले हम
बरसात में

नैनों से झांकी जी, (मेरी) मस्त जवानी
कहती फिरे दुनिया से, (मेरे) दिल की कहानी
उनकी जो मैं, उनसे कैसी शरम
बरसात में...

प्रीत ने सिंगार किया, मैं बनी दुल्हन
सपनों की रिमझिम में, (मेरा) नाच उठा मन
आज मैं तुम्हारी हुई, तुम मेरे सनम
बरसात में...

ये समां है जा रहे हो, कैसे मनाऊँ
मैं तुम्हारी राह में ये नैन बिछाऊँ
जो ना आओ तुमको, (मेरी) जान की क़सम
बरसात में...

देर ना करना कहीं ये, आस टूट जाये, सांस छूट जाये
तुम ना आओ दिल की लगी, मुझको ही जलाये, ख़ाक़ में मिलाये
आग़ की लपटों में पुकारे ये मेरा गम
मिल ना सके, हाय, मिल ना सके हम


रिमझिम रिमझिम रुमझुम रुमझुम - Rimjhim Rimjhim Rumjhum Rumjhum (Kumar, Kavita)



Movie/Album: 1942 अ लव स्टोरी (1993)
Music By: आर. डी. बर्मन
Lyrics By: जावेद अख्तर
Performed By: कुमार सानु, कविता कृष्णमूर्ति

रिमझिम रिमझिम, रुमझूम रुमझूम
भीगी भीगी रुत में, तुम हम, हम तुम
चलते हैं, चलते हैं
बजता है जलतरंग, टीन की छत पे जब
मोतियों जैसा जल बरसे
बूंदो की ये झड़ी, लाई है वो घड़ी
जिसके लिए हम तरसे

बादल की चादरे, ओढ़े हैं वादियाँ, सारी दिशाएँ सोयी हैं
सपनों के गाँव में, भीगी सी छाँव में, दो आत्माएँ खोई हैं
रिमझिम रिमझिम...

आयी है देखने, झीलों के आईने, बालों को खोले घटाएं
राहे धुआँ-धुआँ, जायेंगे हम कहाँ, आओ यहीं रह जाएँ
रिमझिम रिमझिम...


क्या हो फिर जो दिन - Kya Ho Phir Jo Din (Geeta Dutt, Asha Bhosle, Nau Do Gyarah)



Movie/Album: नौ दो ग्यारह (1957)
Music By: एस.डी.बर्मन
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: गीता दत्त, आशा भोंसले

क्या हो फिर जो दिन रंगीला हो
रेत चमके, समुन्दर नीला हो
और आकाश गीला-गीला हो
क्या हो फिर जो दिन...

आह! फिर तो बड़ा मज़ा होगा
अम्बर झुका-झुका होगा
सागर रुका-रुका होगा
तूफां छुपा-छुपा होगा

क्या हो फिर जो चंचल घाटी हो
होठों पे मचलती बातें हो
सावन हो, भरी बरसातें हो

आह! फिर तो बड़ा मज़ा होगा
कोई-कोई फिसल रहा होगा
कोई-कोई संभल रहा होगा
कोई-कोई मचल रहा होगा

क्या हो फिर जो दुनिया सोती हो
और तारों भरी खामोशी हो
हर आहट पे धड़कन होती हो

आह! फिर तो बड़ा मज़ा होगा
दिल-दिल मिला-मिला होगा
तन-मन खिला-खिला होगा
दुश्मन जला-जला होगा


घनन घनन - Ghanan Ghanan (Lagaan)



Movie/Album: लगान (2001)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By: जावेद अख्तर
Performed By: अलका याग्निक, उदित नारायण, सुखविंदर सिंह, शंकर महादेवन, शान

घनन-घनन घिर घिर आये बदरा
घन घनघोर कारे छाये बदरा
धमक-धमक गूँजे बदरा के डंके
चमक-चमक देखो बिजुरिया चमके
मन धड़काये बदरवा, मन धड़काये बदरवा
मन-मन धड़काये बदरवा

काले मेघा, काले मेघा, पानी तो बरसाओ
बिजुरी की तलवार नहीं, बूँदों के बान चलाओ
मेघा छाये, बरखा लाये
घिर-घिर आये, घिर के आये

कहे ये मन मचल-मचल, न यूँ चल सम्भल-सम्भल
गये दिन बदल, तू घर से निकल
बरसने वाल है अब अमृत जल

दुविधा के दिन बीत गये, भईया मल्हार सुनाओ
घनन-घनन घिर-घिर...

रस अगर बरसेगा, कौन फिर तरसेगा
कोयलिया गायेगी बैठेगी मुण्डेरों पर
जो पंछी गायेंगे, नये दिन आयेंगे
उजाले मुस्कुरा देंगे अंधेरों पर
प्रेम की बरखा में भीगे-भीगे तनमन
धरती पे देखेंगे पानी का दरपन
जईओ तुम जहाँ-जहाँ, देखियो वहाँ-वहाँ
यही इक समाँ कि धरती यहाँ
है पहने सात रंगों की चूनरिया
घनन-घनन घिर-घिर...

पेड़ों पर झूले डालो और ऊँची पेंद बढ़ाओ
काले मेघा, काले मेघा...

आई है रुत मतवाली, बिछाने हरियाली
ये अपने संग में लाई है सावन को
ये बिजुरी की पायल, ये बादल का आँचल
सजाने लाई है धरती की दुल्हन को
डाली-डाली पहनेगी फूलों के कंगन
सुख अब बरसेगा आँगन-आँगन
खिलेगी अब कली-कली, हँसेगी अब गली-गली
हवा जो चली, तो रुत लगी भली
जला दे जो तन-मन वो धूप ढली
काले मेघा, काले मेघा...


पहले प्यार की पहली ये बरसात - Pehle Pyar Ki Pehli Ye Barsaat (Kavita Krishnamurthy, Udit Narayan, Dil Hai Betaab)



Movie/Album: दिल है बेताब (1993)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: के.के.वर्मा
Performed By: कविता कृष्णमूर्ति, उदित नारायण

पहले प्यार की पहली ये बरसात है
हम दोनों एक दूजे के साथ हैं
भीगेंगे हम-तुम, तुम-हम बरसात में
बरसात है
पहले प्यार की...

हमारे मिलने से मौसम सजा है
रंगीन फ़िज़ा है, ठण्डी हवा है
ऐसे में मेरा दिल कह रहा है
मुझको तो जाने कुछ होने लगा है
आज की मुलाक़ात क्या बात है
क्या बात है
पहले प्यार की...

बाहों में आजा चाहत की अर्ज़ी है
हम तुम कैसे ना मिलते कुदरत की मर्ज़ी है
मर्ज़ी तो है लेकिन, इतनी क्या जल्दी है
मैंने तो ज़िन्दगी नाम तेरे कर दी है
दिल से मिली दिल को ये सौगात है
सौगात है
पहले प्यार की...


लगी आज सावन की - Lagi Aaj Sawan Ki (Suresh Wadkar, Anupama Deshpande, Chandni)



Movie/Album: लगी आज सावन की (1989)
Music By: शिव-हरी
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: सुरेश वाडकर, अनुपमा देशपांडे

लगी आज सावन की फिर वो झड़ी है
वही आग सीने में फिर जल पड़ी है
लगी आज सावन की...

कुछ ऐसे ही दिन थे वो जब हम मिले थे
चमन में नहीं, फूल दिल में खिले थे
वही तो है मौसम मगर रुत नहीं वो
मेरे साथ बरसात भी रो पड़ी है
लगी आज सावन की...

कोई काश दिल पे ज़रा हाथ रख दे
मेरे दिल के टुकड़ों को एक साथ रख दे
मगर ये है ख़्वाबों-ख्यालों की बातें
कभी टूट कर चीज़ कोई जुड़ी है
लगी आज सावन की...


अभी ज़िन्दा हूँ तो - Abhi Zinda Hoon To (Kumar Sanu, Roop Kumar Rathod, Naajayaz)



Movie/Album: नाजायज़ (1995)
Music By: अनु मलिक
Lyrics By: इन्दीवर
Performed By: कुमार सानू, रूप कुमार राठोड़

बरसात के मौसम में
तन्हाई के आलम में
मैं घर से निकल आया
बोतल भी उठा लाया
अभी ज़िन्दा हूँ तो जी लेने दो
भरी बरसात में पी लेने दो
अभी ज़िन्दा हूँ...

मुझे टुकड़ों में नहीं जीना है
कतरा-कतरा तो नहीं पीना है
आज पैमाने हटा दो यारों
सारा मयखाना पिला दो यारों
मयकदों में तो पिया करता हूँ
चलती राहों में भी पी लेने दो
अभी ज़िन्दा हूँ...

मेरे दुश्मन हैं ज़माने के ग़म
बाद पीने के ये होंगे कम
ज़ुल्म दुनिया के ना सह पाऊँगा
बिन पिये आज न रह पाऊँगा
मुझे हालात से टकराना है
ऐसे हालात में पी लेने दो
अभी ज़िन्दा हूँ...

आज की शाम बड़ी बोझिल है
आज की रात बड़ी कातिल है
आज की शाम ढलेगी कैसे
आज की रात कटेगी कैसे
आग से आग बुझेगी दिल की
मुझे ये आग भी पी लेने दो
अभी ज़िन्दा हूँ...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com