Rang Rasiya लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Rang Rasiya लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

काहे सताये - Kaahe Sataye (Sunidhi Chauhan, Roop Kumar Rathod, Rang Rasiya)



Movie/Album: रंग रसिया (2014)
Music By: सन्देश शांडिल्य
Lyrics By: मनोज मुन्तशिर
Performed By: सुनिधि चौहान, रूप कुमार राठौर

काहे सताये रे पिया
पीर ना जाने छलिया रे

नैना है पान, भवें कमान
चित चोर लटें, जब मुख से हटें
छलके है रूप छल-छल-छल
इक टीस उठे है पल-पल,
पग-पग पे राग जाये है जाग
झनकाये तू जो पायल

मधुमास भरा मोरा अंग-अंग
मोरे रोम-रोम से छलके रंग
झंकार उठे है कुछ ऐसी
जैसे ताल मिले सरगम के संग
आज लगन है एक ही मन में
मतवारी हो जाऊँ
कण-कण तुझको सौंप के साजन
मैं खाली हो जाऊँ
हो काहे सताये रे पिया...

बाहर भीतर हर अंतर
पल भर को ढह जाये
हो ऐसा मिलन तन राख बने
बस मन बाकी रह जाये
बूंद-बूंद पी जाऊँ सजनी
तेरे तन का रंग निराला
रच दूँ ऐसा चित्र मिलन का
जाग उठे जग रचने वाला
काहे सताये रे पिया...


ओ कामिनी - O Kaamini (Sonu Nigam, Rang Rasiya)



Movie/Album: रंग रसिया (2014)
Music By: सन्देश शांडिल्य
Lyrics By: मनोज मुन्तशिर
Performed By: सोनू निगम

याद है अपना पहला मिलन
सृष्टि का वो पहला सावन
तू युगों की प्यासी धरती थी
तुझे प्रेम के बादल घेरे थे
तेरे तपते हुये तन पे जो झरे
वो मेघदूत सब मेरे थे
ओ कामिनी...

तेरे तन मंदिर में मेरा मन खोया
जागा सपना सोया-सोया
बड़े लुटेरे नैना तोरे
सुधबुध मैं तो भूल गयो रे
एक लचक में सौ हिलकोरे
जोगन भाग जगा दे मोरे
ओ कामिनी...

काया तेरी माया दर्पण
ये इन्द्रधनुष तुझको अर्पण
आ ओढ़ लूँ तुझको ओ बैरंग
जैसे धरती ओढ़े नील गगन
हम मिलेंगे ये तब से तय था
जब चमक नहीं थी तारों में
ना सोच ये नीति क्या कहती है
आ बह जा मेरी धारों में
ओ कामिनी...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com