Ravi लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Ravi लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

मेरे भैया मेरे चंदा - Mere Bhaiya Mere Chanda (Asha Bhosle, Kaajal)



Movie/Album: काजल (1965)
Music By: रवि
Lyrics By: साहिर लुधियानवी
Performed By: आशा भोंसले

मेरे भैया, मेरे चंदा, मेरे अनमोल रतन
तेरे बदले मैं जमाने की कोई चीज़ ना लूँ

तेरी साँसोँ की कसम खा के, हवा चलती है
तेरे चेहरे की झलक पा के बहार आती है
एक पल भी मेरी नज़रों से जो तू ओझल हो
हर तरफ मेरी नज़र तुझको पुकार आती है
मेरे भैया मेरे चंदा...

तेरे सेहरे की महकती हुई लड़ियों के लिए
अनगिनत फूल उम्मीदों के चुने हैं मैंने
वो भी दिन आये कि उन ख्वाबों के ताबीर मिले
तेरी खातिर जो हसीं ख्वाब बुने हैं मैंने
मेरे भैया मेरे चंदा...


संसार की हर शय का - Sansar Ki Har Shay Ka (Mahendra Kapoor, Dhund)



Movie/Album: धुंध (1973)
Music By: रवि
Lyrics By: साहिर लुधियानवी
Performed By: महेंद्र कपूर

संसार की हर शय का इतना ही फ़साना है
एक धुँध से आना है, एक धुँध में जाना है

ये राह कहाँ से है, ये राह कहाँ तक है
ये राज़ कोई राही समझा है न जाना है
संसार की हर शय का...

एक पल की पलक पर है, ठहरी हुई ये दुनिया
एक पल के झपकने तक हर खेल सुहाना है
संसार की हर शय का...

क्या जाने कोई किस पल, किस मोड़ पे क्या बीते
इस राह में ऐ राही, हर मोड़ बहाना है
संसार की हर शय का...

हम लोग खिलौने हैं, एक ऐसे खिलाड़ी के
जिसको अभी सदियों तक, ये खेल रचाना है
संसार की हर शय का...


मुझे इश्क है तुझी से - Mujhe Ishq Hai Tujhi Se (Md.Rafi, Ummeed)



Movie/Album: उम्मीद (1971)
Music By: रवि
Lyrics By: शकील बदायुनी
Performed By: मो.रफ़ी

मुझे इश्क है तुझी से
मेरी जान-ए-ज़िन्दगानी
तेरे पास मेरा दिल है
मेरे प्यार की निशानी
मुझे इश्क है तुझी से...

मेरी ज़िन्दगी में तू है
मेरे पास क्या कमी है
जिसे ग़म नहीं खिज़ा का
वो बहार तूने दी है
मेरे हाल पर हुई है
तेरी ख़ास महरबानी
तेरे पास मेरा दिल...

तेरे हुस्न ने दिखाई
मुझे बेखुदी की राहें
ये हसीन लब नशीले
ये झुकी झुकी निगाहें
तेरी ज़ुल्फ़ से उठी है
ये घटाओं की जवानी
तेरे पास मेरा दिल...

न मुझे गम-ए-मुकद्दर
न मुझे गम-ए-ज़माना
तेरे दम से है सलामत
मेरे दिल का आशियाना
रहे उम्र भर जुबां पर
तेरे प्यार की कहानी
तेरे पास मेरा दिल...


ओ नन्हें से फ़रिश्ते - O Nanhe Se Farishte (Md.Rafi)



Movie/Album: एक फूल दो माली (1969)
Music By: रवि
Lyrics By: प्रेम धवन
Performed By: मो.रफ़ी

ओ नन्हें से फ़रिश्ते, तुझसे ये कैसा नाता
कैसे ये दिल के रिश्ते, ओ नन्हें से फ़रिश्ते
Happy Birthday To You...

तुझे देखने को तरसे, क्यों हर घड़ी निगाहें
बेचैन सी रहती हैं, तेरे लिये ये बाहें
मुझे खुद पता नहीं है, मुझे तुझसे प्यार क्यूं है
ओ नन्हें से फ़रिश्ते...

नाज़ुक सा फूल है तू, किसी और के चमन का
खुशबू से तेरी महके, क्यों बाग मेरे मन का
मेरी ज़िन्दगी में छाई, तुझसे बहार क्यूं है
ओ नन्हें से फ़रिश्ते...

तू कुछ नहीं है मेरा, फिर भी ये तड़प कैसी
तुझे देखते ही खून में, उठती है इक लहर सी
हर वक्त मुझको रहता, तेरा इन्तज़ार क्यूं है
ओ नन्हें से फ़रिश्ते...


C A T कैट माने बिल्ली - C A T Cat Maane Billi (Kishore Kumar, Asha Bhosle, Dilli Ka Thug)



Movie/Album: दिल्ली का ठग (1958)
Music By: रवि
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: आशा भोंसले, किशोर कुमार

C.A.T. Cat, Cat माने बिल्ली
R.A.T. Rat, Rat माने चूहा
अरे दिल है तेरे पंजे में तो क्या हुआ
M.A.D. Mad, Mad माने पागल
B.O.Y. Boy, Boy माने लड़का
अरे मतलब इसका तुम कहो तो क्या हुआ

अरी बावरी तू बन जा मेरी
ज़रा सुन मैं क्या कहता हूँ
ज़रा देख इधर, तुझे है खबर
तू है कौन और मैं क्या हूँ
G.O.A.T. Goat, Goat माने बकरी
L.I.O.N. Lion, Lion माने शेर
अरे दिल है तेरे...

लगे ताकने कभी अपने
शिशा ले के मुँह देखा भी
तुम्हीं इक नहीं, जहां में हसीं
ना होगा कोई हमसा भी
N.O.S.E. Nose, Nose माने नाक
C.R.O.W. Crow, Crow माने कौवा
अरे मतलब इसका तुम...

मिला ले नज़र, ओ जान-ए-जिगर
तेरा क्या करेगी दुनिया
जहां से डरो, ये सोचा करो
हमें क्या कहेगी दुनिया
B.A.D. Bad, Bad माने बुरा
B.U.T. But, But माने लेकिन
अरे दिल है तेरे...


सौ बार जनम लेंगे - Sau Baar Janam Lenge (Md.Rafi, Ustadon Ke Ustad)



Movie/Album: उस्तादों के उस्ताद (1963)
Music By: रवि
Lyrics By:
असद भोपाली
Performed By: मो.रफ़ी

वफ़ा के दीप जलाए हुए निगाहों में
भटक रही हो भला क्यों उदास राहों में
तुम्हें ख्याल है तुम मुझसे दूर हो लेकिन
मैं सामने हूँ, चली आओ मेरी धुन में

सौ बार जनम लेंगे, सौ बार फ़ना होंगे
ऐ जाने वफ़ा फिर भी हम तुम ना जुदा होंगे

किस्मत हमें मिलने से रोकेगी भला कब तक
इन प्यार की राहों में भटकेगी वफ़ा कब तक
कदमों के निशाँ खुद ही मंजिल का पता होंगे
सौ बार जनम लेंगे...

ये कैसी उदासी है, जो हुस्न पे छाई है
हम दूर नहीं तुमसे, कहने को जुदाई है
अरमान भरे दो दिल, फिर एक जगह होंगे
सौ बार जनम लेंगे...


मेरा यार बना है दूल्हा - Mera Yaar Bana Hai Dulha (Md.Rafi, Chaudhvin Ka Chand)



Movie/Album: चौदहवीं का चाँद (1960)
Music By: रवि
Lyrics By: शकील बदायुनी
Performed By: मो.रफ़ी

मेरा यार बना है दूल्हा, और फूल खिलें हैं दिल के
अरे मेरी भी शादी हो जाए दुआ करो सब मिल के

आज की खुशियाँ देख के मेरा दिल भी ले अंगड़ाई
मेरे भी घर हो धूम धड़क्का और बजे शहनाई
मैं भी सेहरा बाँध के बैठूं बीच भरी महफ़िल के
मेरा यार बना है दूल्हा...

ऐ मेरे मालिक, मेरे दाता, मेरे पालनहारा
यार को तूने दुल्हन दे दी, रह गया मैं ही कुंवारा
मुझको भी मेरी बुलबुल दे दे, मैं भी हँसू खिल-खिल के
मेरा यार बना है दूल्हा...

ऐ मेरे हमदम रहे हमेशा तेरी सलामत जोड़ी
आज तेरे सेहरे ने भैय्या, मुझपे क़यामत तोड़ी
मेरी भी आँखों में जागे, ख्वाब नई मंज़िल के
मेरा यार बना है दूल्हा...


बाबुल की दुआएँ - Babul Ki Duaaein (Md.Rafi, Neelkamal)



Movie/Album: नीलकमल (1968)
Music By: रवि
Lyrics By: साहिर लुधियानवी
Performed By: मो.रफ़ी

बाबुल की दुआएँ लेती जा, जा तुझको सुखी संसार मिले
मैके की कभी ना याद आए, ससुराल में इतना प्यार मिले
बाबुल की दुआएँ...

नाज़ों से तुझे पाला मैंने, कलियों की तरह फूलों की तरह
बचपन में झुलाया है तुझको, बाँहों ने मेरी झूलों की तरह
मेरे बाग़ की ऐ नाज़ुक डाली, तुझे हर पल नई बहार मिले
बाबुल की दुआएँ...

जिस घर से बँधे हैं भाग तेरे, उस घर में सदा तेरा राज रहे
होंठों पे हँसी की धूप खिले, माथे पे ख़ुशी का ताज रहे
कभी जिसकी जोत न हो फीकी, तुझे ऐसा रूप-सिंगार मिले
बाबुल की दुआएँ...

बीतें तेरे जीवन की घड़ियाँ, आराम की ठंडी छाँव में
काँटा भी न चुभने पाए कभी, मेरी लाड़ली तेरे पाँवों में
उस द्वार से भी दुख दूर रहें, जिस द्वार से तेरा द्वार मिले
बाबुल की दुआएँ...


बार बार देखो - Baar Baar Dekho (Md.Rafi, Chinatown)



Movie/Album: चाइनाटाउन (1962)
Music By: रवि
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: मो.रफ़ी

बार बार देखो, हज़ार बार देखो
के देखने की चीज़ है, हमारा दिलरुबा
टाली हो, टाली हो, टाली हो

हाँ जी हाँ, और भी होंगे दिलदार यहाँ
लाखों दिलों की बहार यहाँ, पर ये बात कहाँ
ये बेमिसाल हुस्न, लाजवाब ये आदा
टाली हो, टाली हो, टाली हो

दिल मिला, एक जान-ए-महफ़िल मिला
या चिराग़-ए-मंज़िल मिला, ये न पूछो के कहाँ
नया नया ये आशिक़ी का राज़ है मेरा
टाली हो, टाली हो, टाली हो

बल्ले बल्ले, उठके मिस्टर क्यों चले
प्यार पे मेरे कहो क्यों जले, बैठ भी जाओ मेहरबाँ
दुआ करो मिले तुम्हें भी ऐसा दिलरुबा
टाली हो, टाली हो, टाली हो


फज़ा भी है जवां - Faza Bhi Hai Jawaan (Salma Agha, Nikaah)



Movie/Album: निकाह (1982)
Music By: रवि
Lyrics By: हसन कमाल
Performed By: सलमा आगा

फज़ा भी है जवाँ, जवाँ
हवा भी है रवाँ, रवाँ
सुना रहा है ये समा
सुनी सुनी सी दास्ताँ

पुकारते हैं दूर से, वो काफिले बहार के
बिखर गये हैं रंग से, किसी के इंतजार के
लहर लहर के होंठ पर, वफ़ा की है कहानियाँ
सुना रहा है ये समा...

बुझी मगर बुझी नहीं, न जाने कैसी प्यास है
करार दिल से आज भी, ना दूर है ना पास है
ये खेल धूप-छाँव का, ये कुरबतें, ये दूरियाँ
सुना रहा है ये समा...

हर एक पल को ढूंढता, हर एक पल चला गया
हर एक पल फिराक का, हर एक पल विसाल का
हर एक पल गुजर गया, बना के दिल पे इक निशाँ
सुना रहा है ये समा...


रहा गर्दिशों में हरदम - Raha Gardishon Mein Hardam (Md.Rafi, Do Badan)



Movie/Album: दो बदन (1966)
Music By: रवि
Lyrics By: शकील बदायुनी
Performed By: मो.रफ़ी

रहा गर्दिशों में हरदम, मेरे इश्क का सितारा
कभी डगमगाई कश्ती, कभी खो गया किनारा

कोई दिल के खेल देखे, के मोहब्बतों की बाजी
वो कदम कदम पे जीते, मैं कदम कदम पे हारा
रहा गर्दिशों में हरदम...

ये हमारी बदनसीबी, जो नहीं तो और क्या है
के उसी के हो गये हम, जो ना हो सका हमारा
रहा गर्दिशो में हरदम...

पड़े जब ग़मों से पाले, रहे मिट के मिटने वाले
जिसे मौत ने ना पूछा, उसे ज़िन्दगी ने मारा
रहा गर्दिशो में हरदम...


छू लेने दो नाज़ुक - Chhoo Lene Do Naazuk (Md.Rafi, Kaajal)



Movie/Album: काजल (1965)
Music By: रवि
Lyrics By: साहिर लुधियानवी
Performed By: मो.रफ़ी

छू लेने दो नाज़ुक होठों को
कुछ और नहीं है, जाम है ये
क़ुदरत ने जो हमको बख़्शा है
वो सबसे हंसीं इनाम है ये
छू लेने दो नाजुक...

शरमा के न यूँ ही खो देना
रंगीन जवानी की घड़ियाँ
बेताब धड़कते सीनों का
अरमान भरा पैगाम है ये
छू लेने दो नाज़ुक...

अच्छों को बुरा साबित करना
दुनिया की पुरानी आदत है
इस मय को मुबारक चीज़ समझ
माना की बहुत बदनाम है ये
छू लेने दो नाजुक...


जब चली ठण्डी हवा - Jab Chali Thandi Hawa (Asha Bhosle, Do Badan)



Movie/Album: दो बदन (1966)
Music By: रवि
Lyrics By: शकील बदायुनी
Performed By: आशा भोसले

जब चली ठंडी हवा, जब उठी काली घटा
मुझको ऐ जान-ए-वफ़ा तुम याद आए

ज़िन्दगी की दास्तां, चाहे कितनी हो हसीं
बिन तुम्हारे कुछ नहीं
क्या मज़ा आता सनम, आज भूले से कहीं
तुम भी आ जाते यहीं
ये बहारें ये फिज़ा, देखकर ओ दिलरुबा
जाने क्या दिल को हुआ, तुम याद आये
जब चली ठण्डी हवा...

ये नज़ारे ये समा, और फिर इतने जवाँ
हाए रे ये मस्तियाँ
ऐसा लगता है मुझे, जैसे तुम नज़दीक हो
इस चमन से जान-ए-जाँ
सुन के पी पी की सदा, दिल धड़कता है मेरा
आज पहले से सिवा, तुम याद आये
जब चली ठण्डी हवा...


नसीब में जिसके जो लिखा था - Naseeb Mein Jiske Jo Likha Tha (Md.Rafi, Do Badan)



Movie/Album: दो बदन (1966)
Music By: रवि
Lyrics By: शकील बदायुनी
Performed By: मो.रफ़ी

नसीब में जिसके जो लिखा था, वो तेरी महफ़िल में काम आया
किसी के हिस्से में प्यास आई, किसी के हिस्से में जाम आया
नसीब में जिसके जो लिखा था

मैं एक फसाना हूँ बेकसी का, ये हाल है मेरी ज़िन्दगी का
ना हुस्न ही मुझको रास आया, ना इश्क ही मेरे काम आया
नसीब में जिसके जो लिखा था...

बदल गयी तेरी मंज़िलें भी, बिछड गया मैं भी कारवाँ से
तेरी मुहब्बत के रास्ते में, न जाने ये क्या मकाम आया
नसीब में जिसके जो लिखा था...

तुझे भूलाने की कोशिशें भी, तमाम नाकाम हो गई हैं
किसी ने ज़िक्र-ए-वफ़ा किया जब, ज़ुबां पे तेरा ही नाम आया
नसीब में जिसके जो लिखा था...


दो नैन मिले दो फूल खिले - Do Nain Mile Do Phool Khile (Asha Bhosle, Mahendra Kapoor, Ghunghat)



Movie/Album: घूँघट (1960)
Music By: रवि
Lyrics By: शकील बदायुनी
Performed By: आशा भोंसले, महेंद्र कपूर

दो नैन मिले, दो फूल खिले
दुनिया में बहार आई
एक रंग नया लायी, एक रंग नया लायी
दिल गाने लगा, लहराने लगा
ली प्यार ने अंगड़ाई
बजने लगी शहनाई, बजने लगी शहनाई
दो नैन मिले...

अरमान भरी नज़रों से बलम
इस तरह हमें देखा न करो
हो जाए ना रुसवा इश्क़ कहीं
दुनिया है बुरी, दुनिया से डरो
दुनिया का मुझे कुछ खौफ़ नहीं
दुनिया तो है हरजाई, और इश्क़ है सौदाई
दो नैन मिले...

ज़ुल्फों की घनी छाँव में सनम
दम भर के लिए जीने दे मुझे
इस मस्त नज़र की तुझको कसम
आँखों से ज़रा पीने दे मुझे
पीना तो कोई दुश्वार नहीं
ओ प्यार के शहदायी, बहके तो है रुसवाई
दो नैन मिले...


सजना साथ निभाना - Sajna Saath Nibhana (Asha Bhosle, Md.Rafi, Doli)



Movie/Album: डोली (1969)
Music By: रवि
Lyrics By: राजिंदर कृष्ण
Performed By: आशा भोंसले, मो.रफ़ी

सजना साथ निभाना, सजना साथ निभाना
साथी मेरी बहारों के राह में छोड़ न जाना
सजना साथ निभाना...

आ के चला जाए ज़माना जो बहार का
फूल मुरझाये ना तेरे-मेरे प्यार का
आज के वादे सजना
आज की बातें सजना
भूल न जाना
सजना साथ निभाना...

वैसे तो हजारों नज़ारे मेरी राह में
एक बस तू ही समाया है निगाहों में
प्यार की रस्में सजना
प्यार की कसमें सजना
भूल न जाना...

किसने साथ निभाया, किसने साथ निभाया
दिल को एक खिलौना समझा
खेला और ठुकराया
किसने साथ निभाया...

कहाँ के ये वादे, ये कसमें कहाँ की
कहाँ है वो दुनिया, ये बातें हैं जहां की
झूठी नगरी, झूठे जोगी
प्रीत भी सच्ची कैसे होगी
अच्छा ढोंग रचाया
किसने साथ निभाया...


दूर रह कर ना करो बात - Door Reh Kar Na Karo Baat (Md.Rafi, Amaanat)



Movie/Album: अमानत (1977)
Music By: रवि
Lyrics By: साहिर लुधियानवी
Performed By: मो.रफ़ी

दूर रह कर ना करो बात, करीब आ जाओ
याद रह जायेगी ये रात, करीब आ जाओ

एक मुद्दत से तमन्ना थी तुम्हें छूने की
आज बस में नहीं जज़्बात, करीब आ जाओ
दूर रह कर...

सर्द झोंको से बढ़कते हैं बदन में शोले
जान ले लेगी ये बरसात, करीब आ जाओ
दूर रह कर...

इस कदर हमसे झिझकने की ज़रूरत क्या है
ज़िन्दगी भर का है अब साथ, करीब आ जाओ
दूर रह कर...


मतलब निकल गया है - Matlab Nikal Gaya Hai (Md.Rafi, Amaanat)



Movie/Album: अमानत (1977)
Music By: रवि
Lyrics By: साहिर लुधियानवी
Performed By: मो.रफ़ी

मतलब निकल गया है तो पहचानते नहीं
हाय
यूँ जा रहे हैं जैसे हमें जानते नहीं

अपनी गरज थी जब तो, लिपटना क़ुबूल था
बाहों के दायरे में, सिमटना क़ुबूल था
हाय
अब हम मना रहे हैं मगर, मानते नहीं
यूँ जा रहे हैं...

हमने तुम्हें पसंद किया, क्या बुरा किया
रुतबा ही कुछ बलंद किया, क्या बुरा किया
हाय
हर एक गली की ख़ाक तो हम, छानते नहीं
मतलब निकल गया...

मुँह फेर कर न जाओ हमारे करीब से
मिलता है कोई चाहने वाला नसीब से
हाय
इस तरह आशिकों पे कमां, तानते नहीं
मतलब निकल गया...


ज़िन्दगी में प्यार करना - Zindagi Mein Pyar Karna (Asha Bhosle, Phool Aur Patthar)



Movie/Album: फूल और पत्थर (1966)
Music By: रवि
Lyrics By: शकील बदायुनी
Performed By: आशा भोंसले

ज़िन्दगी में प्यार करना सीख ले
जिसको जीना हो मरना सीख ले

जीने वाले ज़िन्दगी का गम ना कर
आ मोहब्बत ही मोहब्बत है इधर
हमसे दिल में रंग भरना सीख ले
जिसको जीना हो मरना सीख ले
ज़िन्दगी में प्यार करना...

ज़ुल्फ़ कोई तुझपे जब लहराएगी
प्यार की मंज़िल तुझे मिल जाएगी
दिल की राहों से गुज़रना सीख ले
जिसको जीना हो मरना सीख ले
ज़िन्दगी में प्यार करना...

किस लिए खामोश है तू ऐ सनम
हुस्न के रंगीं इशारों की कसम
उस नज़र से बात करना सीख ले
जिसको जीना हो मरना सीख ले
ज़िन्दगी में प्यार करना...


ज़िन्दगी इत्तिफ़ाक़ है - Zindagi Ittefaq Hai (Asha, Mahendra, Aadmi Aur Insaan)



Movie/Album: आदमी और इंसान (1969)
Music By: रवि
Lyrics By: साहिर लुधियानवी
Performed By: आशा भोंसले, महेंद्र कपूर

ज़िन्दगी इत्तिफ़ाक़ है
कल भी इत्तिफ़ाक़ थी, आज भी इत्तिफ़ाक़ है
ज़िन्दगी इत्तिफ़ाक़ है...

सिर्फ आशा
जाम पकड़, बढ़ा के हाथ, माँग दुआ, घटे न रात
जान-ए-वफ़ा, तेरी क़सम, कहते हैं दिल की बात हम
ग़र कोई मेल हो सके, आँखों का खेल हो सके
अपने को ख़ुशनसीब जान, वक़्त को मेहरबान मान
मिलते हैं दिल कभी-कभी, वरना हैं अजनबी सभी
मेरे हमदम, मेरे मेहरबाँ
हर ख़ुशी इत्तिफ़ाक़ है
कल भी इत्तिफ़ाक़ थी, आज भी इत्तिफ़ाक़ है
ज़िन्दगी इत्तिफ़ाक़ है...

हुस्न है और शबाब है, ज़िन्दगी क़ामयाब है
बज़्म यूँ ही खिली रहे, अपनी नज़र मिली रहे
रंग यूँ ही जमा रहे, वक़्त यूँ ही थमा रहे
साज़ की लय पे झूम ले, ज़ुल्फ़ के ख़म को चूम ले
मेरे किये से कुछ नहीं, तेरे किये से कुछ नहीं
मेरे हमदम, मेरे मेहरबाँ
ये सभी इत्तिफ़ाक़ है
कल भी इत्तिफ़ाक़ थी, आज भी इत्तिफ़ाक़ है
ज़िन्दगी इत्तिफ़ाक़ है...

आशा-महेंद्र
कोई तो बात कीजिये, यारों का साथ दीजिये
कभी गैरों के भी अपनों का गुमां होता है
कभी अपने भी नज़र आते हैं बेगाने से (वाह वाह!)
कभी ख़्वाबों में चमकते हैं मुरादों के महल
कभी महलों में उभर आते हैं वीराने से
कोई रुत भी सदा नहीं, क्या होगा भी कुछ पता नहीं
गम फिज़ुल है, गम ना कर, आज का जश्न कम ना कर
मेरे हमदम, मेरे मेहरबां
हर खुशी इत्तिफ़ाक़ है
कल भी इत्तिफ़ाक़ थी, आज भी इत्तिफ़ाक़ है
ज़िन्दगी इत्तिफ़ाक़ है...

खोये से क्यूँ हो इस कदर, ढूंढती है किसे नज़र
आज मालूम हुआ, पहले ये मालूम न था
चाहतें बढ़ के, पशेमान भी हो जाती हैं (अच्छा?)
दिल के दामन से लिपटती हुई रंगीं नज़रें
देखते-देखते अन्जान भी हो जाती हैं
देखते-देखते अन्जान भी हो जाती हैं
यार जब अजनबी बने, यार जब बेरुखी बने
दिल पे सह जा, गिला न कर, सबसे हँसकर मिला नज़र
मेरे हमदम, मेरे मेहरबाँ
दोस्ती इत्तिफ़ाक़ है
कल भी इत्तिफ़ाक़ थी, आज भी इत्तिफ़ाक़ है
ज़िन्दगी इत्तिफ़ाक़ है...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com