Salil Choudhary लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Salil Choudhary लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

मैंने तेरे लिए ही - Maine Tere Liye Hi (Mukesh, Anand)



Movie/Album: आनंद (1971)
Music By: सलिल चौधरी
Lyrics By: गुलज़ार
Performed By: मुकेश

मैंने तेरे लिए ही सात रंग के सपने चुने
सपने, सुरीले सपने
कुछ हँसते, कुछ गम के
तेरी आँखों के साये चुराए रसीली यादों ने

छोटी बातें, छोटी-छोटी बातों की हैं यादें बड़ी
भूले नहीं, बीती हुई एक छोटी घड़ी
जनम-जनम से आँखे बिछाईं
तेरे लिए इन राहों ने
मैंने तेरे लिए ही सात...

भोले-भाले, भोले-भाले दिल को बहलाते रहे
तन्हाई में, तेरे ख्यालों को सजाते रहे
कभी-कभी तो आवाज देकर
मुझको जगाया ख़्वाबों ने
मैंने तेरे लिए ही सात...


हलके हलके चलो साँवरे - Halke Halke Chalo Sanwre (Hemant Kumar, Lata Mangeshkar, Tangewali)



Movie/Album: तांगेवाली (1955)
Music By: सलिल चौधरी
Lyrics By:
प्रेम धवन
Performed By: हेमंत कुमार, लता मंगेशकर

हल्के हल्के चलो साँवरे
प्यार की मस्त हवाओं में
दिल को ये डर है, पहला सफ़र है
इन अलबेली राहों में

हल्के हल्के चला ना जाये
प्यार की मस्त हवाओं में
जब तक है दम, चलो चलें हम
डाल के बाहें बाहों में

बढ़ने लगी दिल की धड़कन
डोल रहा क्यों मेरा तन मन, हाय मेरा तन मन
तू ही बता चैन कहाँ जब लागी लगन
दिल भी है तेरा, जाँ भी है तेरी
जबसे बसी हो निगाहों में
हल्के हल्के चलो साँवरे

तू मंज़िल मैं राही तेरा
तेरे बिना क्या जीना मेरा, क्या जीना मेरा
टूटे कभी ना छुटे कभी ये साथ पिया
प्यार की क़सम, संग रहेंगे हम
नील गगन की छाँव में
हल्के हल्के चलो साँवरे...



दिल तड़प तड़प के - Dil Tadap Tadap Ke (Lata Mangeshkar, Mukesh, Madhumati)



Movie/Album: मधुमती (1958)
Music By: सलिल चौधरी
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed By: लता मंगेशकर, मुकेश

दिल तड़प तड़प के कह रहा है आ भी जा
तू हमसे आँख ना चुरा, तुझे कसम है आ भी जा

तू नहीं तो ये बहार क्या बहार है
गुल नहीं खिले के तेरा इंतजार है
दिल तड़प तड़प के...

दिल धड़क धड़क के दे रहा है ये सदा
तुम्हारी हो चुकी हूँ मैं, तुम्हारे पास हूँ सदा

तुमसे मेरी ज़िन्दगी का ये सिंगार है
जी रही हूँ मैं के मुझको तुमसे प्यार है
दिल तड़प तड़प के...

मुस्कुराते प्यार का असर है हर कहीं
हम कहाँ हैं, दिल किधर है, कुछ खबर नहीं
दिल तड़प तड़प के...


न जाने क्यूँ होता है - Na Jaane Kyun Hota Hai (Lata, Chhoti Si Baat)



Movie/Album: छोटी सी बात (1975)
Music By:
सलिल चौधरी
Lyrics By: योगेश
Performed By: लता मंगेशकर

न जाने क्यों, होता है ये ज़िन्दगी के साथ
अचानक ये मन, किसी के जाने के बाद
करे फिर उसकी याद, छोटी-छोटी सी बात
न जाने क्यूँ...

जो अनजान पल, ढल गए कल
आज वो, रंग बदल-बदल
मन को मचल-मचल, रहे हैं छल
ना जाने क्यों, वो अन्जान पल
सजे भी ना मेरे, नैनों में
टूटे रे, हाय रे, सपनों के महल
ना जाने क्यूँ...

वो ही है डगर, वो ही है सफ़र
है नहीं, साथ मेरे मगर
अब मेरा हमसफ़र
इधर-उधर ढूंढें नज़र, वो ही है डगर
कहाँ गयी शामें, मदभरी
वो मेरे, मेरे वो दिन गए किधर
ना जाने क्यों...


जानेमन जानेमन - Jaaneman Jaaneman (Yesudas, Asha Bhosle, Chhoti Si Baat)



Movie/Album: छोटी सी बात (1975)
Music By:
सलिल चौधरी
Lyrics By: योगेश
Performed By: येसुदास, आशा भोंसले

जानेमन-जानेमन तेरे दो नयन
चोरी-चोरी ले के गए देखो मेरा मन
जानेमन-जानेमन-जानेमन
मेरे दो नयन चोर नहीं सजन
तुम से ही खोया होगा कहीं तुम्हारा मन
जानेमन-जानेमन-जानेमन

तोड़ दे दिलों की दूरी, ऐसी क्या है मजबूरी
दिल, दिल से मिलने दे
अभी तो हुई है यारी, अभी से ये बेकरारी
दिन तो ज़रा ढ़लने दे
यही सुनते, समझते, गुज़र गए जाने कितने ही सावन
जानेमन-जानेमन तेरे...

संग-संग चले मेरे, मारे आगे-पीछे फेरे
समझूँ मैं तेरे इरादे
दोष तेरा है ये तो, हर दिन जब देखो
करती हो झूठे वादे
तू न जाने दीवाने, दिखाऊँ कैसे तुझे मैं ये दिल की लगन
जानेमन-जानेमन तेरे...

छेड़ेंगे कभी न तुम्हें, ज़रा बतला दो हमें
कब तक हम तरसेंगे
ऐसे घबराओ नहीं, कभी तो कहीं ना कहीं
बादल ये बरसेंगे
क्या करेंगे, बरस के, कि जब मुरझाएगा ये सारा चमन
जानेमन-जानेमन तेरे...


ये दिन क्या आये - Ye Din Kya Aaye (Mukesh, Chhoti Si Baat)



Movie/Album: छोटी सी बात (1975)
Music By:
सलिल चौधरी
Lyrics By: योगेश
Performed By: मुकेश

ये दिन क्या आये
लगे फूल हँसने
देखो बसंती-बसंती
होने लगे मेरे सपने
ये दिन क्या आये...

सोने जैसी हो रही है, हर सुबह मेरी
लगे हर सांझ अब, गुलाल से भरी
चलने लगी महकी हुई
पवन मगन झूम के
आँचल तेरा चूम के
ये दिन क्या आए...

वहाँ मन बावरा, आज उड़ चला
जहाँ पर है गगन, सलोना साँवला
जा के वहीँ रख दे कहीं
मन रंगों में खोल के
सपने ये अनमोल से
ये दिन क्या आए...


ज़िन्दगी ख्वाब है - Zindagi Khwaab Hai (Mukesh, Jagte Raho)



Movie/Album: जागते रहो (1956)
Music By: सलिल चौधरी
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed By: मुकेश

रंगी को नारंगी कहें
बने दूध को खोया
चलती को गाड़ी कहें
देख कबीर रोया

ज़िन्दगी ख्वाब है
ख्वाब में झूठ क्या
और भला सच है क्या
सब सच है

दिल ने हमसे जो कहा, हमने वैसा ही किया
फिर कभी फुरसत से सोचेंगे, बुरा था या भला
ज़िन्दगी ख्वाब है...

एक कतरा मय का जब, पत्थर के होठों पर पड़ा
उसके सीने में भी दिल धड़का, ये उसने भी कहा, क्या
ज़िन्दगी ख्वाब है...

एक प्याली भर के मैंने, गम के मारे दिल को दी
ज़हर ने मारा ज़हर को, मुर्दे में फिर जान आ गयी
ज़िन्दगी ख्वाब है...


बाग़ में कली खिली - Baag Mein Kali Khili (Asha Bhosle, Chand Aur Suraj)



Movie/Album: चाँद और सूरज (1965)
Music By:
सलिल चौधरी
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed By: आशा भोंसले

बाग में कली खिली, बगिया महकी
पर हाय रे, अभी इधर भँवरा नहीं आया
राह में नज़र बिछी, बहकी-बहकी
और बेवजह, घड़ी-घड़ी ये दिल घबराया
हाय रे, क्यों ना आया
क्यों न आया, क्यों न आया

बैठे हैं हम तो अरमां जगाए
सीने में लाखों तूफां छुपाये
मत पूछो मन को कैसे मनाया
बाग़ में कली खिली...

सपने जो आये तड़पा के जाये
दिल की लगी को लहका के जाये
मुश्किल से हमने हर दिन बिताया
बाग में कली खिली...

इक मीठी अगनी में जलता है तनमन
बात और बिगड़ी, बरसा जो सावन
बचपन गँवा के मैने सब कुछ गँवाया
बाग़ में कली खिली...


धितांग धितांग बोले - Dhitang Dhitang Bole (Lata Mangeshkar, Aawaz)



Movie/Album: आवाज़ (1956)
Music By: सलिल चौधरी
Lyrics By: प्रेम धवन
Performed By: लता मंगेशकर

धितांग-धितांग बोले, दिल तेरे लिए डोले
ओ सनम हौले-हौले कैसा जादू किये जाए
धितांग-धितांग बोले...

जाने या ना जाने, तू माने या ना माने
हम तेरे ही दीवाने हैं, तू चाहे या ना चाहे
आये रे आये, प्यार के दिन आये
धड़-धड़ दिल धड़के, नज़र शरमाये
कभी तड़पाये, कभी तरसाए
ऐ दिल की लगी तुझको कौन समझाये
आये रे आये, आये रे आये

धिनक ना धिन धिना, दो दिन का है जीना
ओ सनम तेरे बिना मोसे रहा नहीं जाए
आँखो के पैमाने, पी ले ओ मस्ताने
जो पीये वो ही जाने, एजी कैसे जिया जाए
आये रे आये...


जंगल में मोर नाचा - Jangal Mein More Nacha (Md.Rafi, Madhumati)



Movie/Album: मधुमती (1958)
Music By: सलिल चौधरी
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed By: मोहम्मद रफ़ी

जंगल में मोर नाचा
किसी ने ना देखा हाय
हम जो थोड़ी-सी पी के ज़रा झूमे
हाय रे सबने देखा
जंगल में मोर नाचा...

गोरी की गोल-गोल अँखियाँ शराबी
कर चुकी हैं कैसे-कैसों की खराबी
इनका ये ज़ोर ज़ुल्म किसी ने ना देखा
हम जो थोड़ी सी...

किसी को हरे-हरे नोट का नशा है
किसी को बूट-सूट कोट का नशा है
यारों हमें तो नौ टांक का नशा है
हम जो थोड़ी सी...


ज़ुल्मी संग आँख लड़ी - Zulmi Sang Aankh Ladi (Lata Mangeshkar, Madhumati)



Movie/Album: मधुमती (1958)
Music By: सलिल चौधरी
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed by: लता मंगेशकर

ज़ुल्मी संग आँख लड़ी
ज़ुल्मी संग आँख लड़ी रे
सखी मैं का से कहुँ री
ए सखी का से कहुँ
जाने कैसी ये रात बड़ी
ज़ुल्मी संग आँख लड़ी रे...

वो छुप-छुप के बन्सरी बजाये
सुनाये मोहर मस्ती में डूबा हुआ राग रे
मोहे तारों की छाँव में बुलाये
चुराए मेरी निंदिया, मैं रह जाऊँ जाग रे
लगे दिन छोटा, रात बड़ी
ज़ुल्मी संग आँख लड़ी...

बातों-बातों में रोग बढ़ा जाये
हमारा जिया तड़पे किसी के लिए शाम से
मेरा पागलपना तो कोई देखो
पुकारूँ में चंदा को साजन के नाम से
फिरी मन पे जादू की छड़ी
ज़ुल्मी संग आँख लड़ी...


चढ़ गयो पापी बिछुआ - Chadh Gayo Paapi Bichhua (Lata Mangeshkar, Manna Dey, Madhumati)



Movie/Album: मधुमती (1958)
Music By: सलिल चौधरी
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed By: लता मंगेशकर, मन्ना डे

ओ बिछुआ, हाय रे
पीपल छैयाँ, बैठी पल-भर
हो भर के गगरिया हाय रे

होये होये होये
दैय्या रे, दैय्या रे
चढ़ गया पापी बिछुआ
हाय हाय रे मर गयी
कोई उतारो बिछुआ
दैय्या रे दैय्या रे...

कैसो-रो पापी बिछुआ, बिछुआ
दैय्या रे दैय्या रे...

मंतर फेरूँ, कोमल काया
छोड़ के जारे छू
जा रे, जा रे, जा रे
और भी चढ़ गयो
न गयो पापी बिछुआ
कैसी ये आग लगा गयो, पापी बिछुआ
हो सारे बदन पे छा गयो, पापी बिछुआ
कैसो रे पापी बिछुआ, बिछुआ
दैय्या रे दैय्या रे...

मंतर झूठा, वैद्य भी झूठा
पिया घर आ रे, आ रे, आ रे, आ रे
ओये ओये ओये
देखो रे, देखो रे, देखो उतर गयो बिछुआ
टूट के रह गयो डंक, उतर गयो बिछुआ
सैयाँ को देख के जाने किधर गयो बिछुआ
कैसो रे पापी बिछुआ, बिछुआ
दैय्या रे दैय्या रे...


तस्वीर तेरी दिल में - Tasveer Teri Dil Mein (Lata Mangeshkar, Md.Rafi, Maya)



Movie/Album: माया (1961)
Music By: सलिल चौधरी
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: लता मंगेशकर, मोहम्मद रफ़ी

तस्वीर तेरी दिल में
जिस दिन से उतारी है
फिरूँ तुझे संग ले के
नए-नए रंग ले के
सपनों की महफ़िल में
तस्वीर तेरी दिल में...

माथे की बिंदिया तू है सनम
नैनों का कजरा पिया तेरा ग़म
नैन के नीचे-नीचे
रहूँ तेरे पीछे-पीछे
चलूँ किसी मंज़िल में
तस्वीर तेरी दिल में...

तुम से नज़र जब गई है मिल
जहाँ है कदम तेरे, वहीं मेरा दिल
झुके जहाँ पलकें तेरी
खुले जहाँ ज़ुल्फ़ें तेरी
रहूँ उसी मंज़िल में
तस्वीर तेरी दिल में...

तूफ़ान उठाएगी दुनिया मगर
रूक न सकेगा दिल का सफ़र
यूँ ही नज़र मिलती होगी
यूँ ही शमा जलती होगी
तेरी-मेरी मंज़िल में
तस्वीर तेरी दिल में...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com