Sanam Re लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Sanam Re लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

सनम रे - Sanam Re (Arijit Singh, Sanam Re)



Movie/Album: सनम रे (2016)
Music By: मिथुन
Lyrics By: मिथुन
Performed By: अरिजीत सिंह

भीगी भीगी सड़कों पे मैं
तेरा इंतज़ार करूँ
धीरे-धीरे दिल की ज़मीं को
तेरे ही नाम करूँ
खुद को मैं यूँ खो दूँ
के फिर ना कभी पाऊँ
हौले-हौले ज़िन्दगी को
अब तेरे हवाले करूँ
सनम रे, सनम रे
तू मेरा सनम हुआ रे
करम रे, करम रे
तेरा मुझपे करम हुआ रे

तेरे करीब जो होने लगा हूँ तो
टूटे सारे भरम रे
सनम रे, सनम रे...

बादलों की तरह ही तो
तूने मुझपे साया किया है
बारिशों की तरह ही तो
तूने खुशियों से भिगाया है
आँधियों की तरह ही तो
तूने होश को उड़ाया है
मेरा मुक़द्दर सँवारा है यूँ
नया सवेरा जो लाया है तू
तेरे संग ही बिताने हैं मुझको
मेरे सारे जनम रे
सनम रे, सनम रे...


गज़ब का है ये दिन - Gazab Ka Hai Ye Din (Arijit Singh, Amaal Malik, Sanam Re)



Movie/Album: सनम रे (2016)
Music By: अमाल मलिक
Lyrics By: मनोज मुन्तशिर
Performed By: अरिजीत सिंह, अमाल मलिक

चल पड़े हैं हम ऐसी राह पे
बेफिकर हुये के अब जाना कहाँ
लापता हुये सारे रास्ते
ढूंढेगा हमें ये ज़माना कहाँ
ये समां है कैसा, मुस्कुराने जैसा
धीमी बारिशें हैं हर जगह
ये नशा है कैसा, डूब जाने जैसा
जागी ख्वाहिशें हैं हर जगह
गज़ब का है ये दिन, गज़ब का है ये दिन
गज़ब का है ये दिन, देखो ज़रा
गज़ब का है ये दिन...

पानी हूँ पानी मैं, बहने दो मुझे
जैसा हूँ वैसा ही रहने दो मुझे
दुनिया की बंदिशों से, मेरा नाता है कहाँ
रुकना ठहरना मुझको आता है कहाँ
ये समां है कैसा...

नीली है क्यों ज़मीं, नीला है क्यों समां
लगता है घास पर, सोया आसमाँ
ये मस्तियाँ मेरी, मनमानियाँ मेरी
लो मिल गयी मुझे, आज़ादियाँ मेरी
ये समां है कैसा...


क्या तुझे अब ये दिल - Kya Tujhe Ab Ye Dil (Falak Shabir, Sanam Re)



Movie/Album: सनम रे (2016)
Music By: अमाल मलिक
Lyrics By: मनोज मुन्तशिर
Performed By: फ़लक शबीर

क्या तुझे अब ये दिल बताये
तुझपे कितना मुझे प्यार आये
आँसुओं से लिख दूँ मैं तुझको
कोई मेरे बिन पढ़ ही ना पाये
यूँ रहूँ चुप, कुछ भी ना बोलूँ
बरसों लम्बी नींदें सो लूँ
जिन आँखों में तू रहता है
सदियों तक वो आँखें ना खोलूँ
मेरे अंदर खुद को भर दे
मुझको मुझसे खाली कर दे

जिस शाम तू ना मिले
वो शाम ढलती नहीं
आदत-सी तू बन गयी है
आदत बदलती नहीं
क्या तुझे अब ये दिल बताये
तेरे बिना क्यों साँस न आये
आँसुओं से लिख...

हाथों से गिरने लगी
हर आरज़ू हर दुआ
सजदे से मैं उठ गया
जिस पल तू मेरा हुआ
क्या तुझे अब ये दिल बताये
क्यूँ तेरी बाहों में ही चैन आये
आंसुओं से लिख...


हुआ है आज पहली बार - Hua Hai Aaj Pehli Baar (Palak Muchhal, Armaan Malik, Sanam Re)



Movie/Album: सनम रे (2016)
Music By: अमाल मलिक
Lyrics By: मनोज यादव
Performed By: पलक मुछाल, अरमान मलिक

हुआ है आज पहली बार
जो ऐसे मुस्कुराया हूँ
तुम्हें देखा तो जाना ये
के क्यों दुनिया में आया हूँ
ये जाँ लेकर के जाँ मेरी
तुम्हें जीने मैं आया हूँ
मैं तुमसे इश्क़ करने की
इजाज़त रब से लाया हूँ

ज़मीं से आसमाँ तक हम, ढूँढ आये जहां सारा
बना पाया नहीं अब तक, ख़ुदा तुमसे कोई प्यारा
बातों में तेरी है बदमाशियाँ
सब बेवजह की हैं तारीफियाँ
मैं लिख दूँ आसमाँ पर ये, के पढ़ लेगा जहां सारा
हुआ ना होगा अब कोई, यहाँ हम दो-सा दोबारा
मैं दुनिया भर की तारीफें, तेरे सजदे में लाया हूँ
मैं तुमसे इश्क़ करने की...

तू है जो रूबरू मेरे, बड़ा महफूज़ रहता हूँ
तेरे मिलने का शुकराना, ख़ुदा से रोज़ करता हूँ
हमको पता है ये नादानियाँ है
आवारा दिल की है आवारियाँ
ये दिल पागल बना बैठा, इसे अब तू ही समझा दे
दिखे तुझमें मेरी दुनिया, मेरी दुनिया तू बन जा रे
हूँ खुशकिस्मत जो किस्मत से, तुम्हें ऐसे मैं पाया हूँ
मैं तुमसे इश्क़...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com