Sanjh Aur Savera लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Sanjh Aur Savera लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

यही है वो साँझ और सवेरा - Yehi Hai Woh Sanjh Aur Savera (Md.Rafi, Asha Bhosle, Sanjh Aur Savera)



Movie/Album: साँझ और सवेरा (1964)
Music By: शंकर-जयकिशन
Lyrics By: हसरत जयपुरी
Performed By: मोहम्मद रफ़ी, आशा भोंसले

यही है वो साँझ और सवेरा
यही है वो साँझ और सवेरा
जिसके लिए तड़पे हम सारा जीवन भर
यही है वो साँझ और सवेरा...

जनम-जनम से अँधेरा था मेरी राहों में
ये बात कब थी भला मदभरी फ़िज़ाओं में
सबा बहार के डोले में तुमको लाई है
के आज सारी ख़ुदाई है मेरी बाँहों में
चला गया ग़म का वो अन्धेरा
मिलन हुआ प्यार का सुनहरा
जिसके लिए तड़पे...

तुम्हीं छुपे थे मेरी ज़िन्दगी के दर्पण में
तुम्हारा प्यार समेटा है अपने दामन में
जले हैं प्यार के दीपक बना धुआँ काजल
खिले हैं फूल तमन्ना के दिल के आँगन में
मिला मुझे साथ संग तेरा
चमक उठा अब नसीब तेरा
जिसके लिए तड़पे...

मेरी पलक तुम्हारी पलक का साया है
ज़बान-ए-दिल पे तुम्हारा ही नाम आया है
निसार ऐसी ख़ुशी पर हमारी सारी उमर
के हमने चाँद को अपने गले लगाया है
तुमने रंग प्यार का भरा गहरा
निखर गया आसमाँ का चेहरा
जिसके लिए तड़पे...


अजहुँ ना आए बालमा - Ajhun Na Aye Balma (Md.Rafi, Suman Kalyanpur, Sanjh Aur Savera)



Movie/Album: साँझ और सवेरा (1964)
Music By: शंकर-जयकिशन
Lyrics By: हसरत जयपुरी
Performed By: मोहम्मद रफ़ी, सुमन कल्याणपुर

अजहुँ ना आए बालमा, सावन बीता जाए
हाय रे सावन बीता जाए
अजहुँ ना आए बालमा...

नींद भी अँखियन द्वार न आए
तोसे मिलन की आस भी जाए
आई बहार खिले फुलवा
मोरे सपने कौन सजाए
अजहुँ ना आए बालमा...

चांद को बदरा गरवा लगाए
और भी मोरा मन ललचाए
यार हसीन गले लग जा
मोरी उमर गुजरती जाए
अजहुँ ना आए बालमा...


तक़दीर कहाँ ले जाएगी - Taqdeer Kahan Le Jayegi (Md.Rafi, Sanjh Aur Savera)



Movie/Album:साँझ और सवेरा (1964)
Music By: शंकर-जयकिशन
Lyrics By: शैलेंद्र
Performed By: मोहम्मद रफ़ी

तक़दीर कहाँ ले जाएगी मालूम नहीं
लेकिन है यक़ीं आएगी मंज़िल, आएगी मंज़िल
तक़दीर कहाँ ले जाएगी...

पैरों की थकन कहती है ठहर
मुश्किल है डगर लम्बा है सफ़र
पर दिल कहता है गर्दिश भी
आख़िर तो कहीं पहुँचाएगी
लेकिन है यक़ीं...

हैरत से न तुम देखो मुझको
और हाल भी मेरा मत पूछो
अब मेरी तबियत बातों से
कुछ भी न बहलने पाएगी
लेकिन है यक़ीं...


ज़िन्दगी मुझको दिखा - Zindagi Mujhko Dikha (Md.Rafi, Sanjh Aur Savera)



Movie/Album: साँझ और सवेरा (1964)
Music By: शंकर-जयकिशन
Lyrics By: हसरत जयपुरी
Performed By: मोहम्मद रफ़ी

ज़िन्दगी मुझको दिखा दे रास्ता
तुझको मेरी हसरतों का वास्ता
ज़िन्दगी मुझको दिखा...

बोझ ग़म का है चला जाता नहीं
बेकसी का दुःख सहा जाता नहीं
सारा आलम अजनबी है क्या करूँ
उलझनों में कुछ नज़र आता नहीं
ओ ज़िन्दगी मुझको दिखा...

मैं कहीं थम जाऊँ ये आदत नहीं
हाथ फैलाना मेरी फ़ितरत नहीं
जब चला हूँ मैं तो मंज़िल पाऊँगा
मैं नहीं या फिर मेरी क़िस्मत नहीं
ओ ज़िन्दगी मुझको दिखा...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com