Sapan-Jagmohan लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Sapan-Jagmohan लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

मैं तो हर मोड़ पर - Main To Har Mod Par (Mukesh, Chetna)



Movie/Album: चेतना (1970)
Music By: सपन जगमोहन
Lyrics By:नक्श ल्यालपुरी
Performed By: मुकेश

मैं तो हर मोड़ पर तुझको दूँगा सदा
मेरी आवाज़ को, दर्द के साज़ को, तू सुने ना सुने

मुझे देखकर कह रहे हैं सभी
मोहब्बत का हासिल है दीवानगी
प्यार की राह में, फूल भी थे मगर
मैंने कांटे चुने
मैं तो हर मोड़ पर...

जहाँ दिल झुका था वहीँ सर झुका
मुझे कोई सजदों से रोकेगा क्या
काश टूटे ना वो, आरज़ू में मेरी
ख्वाब हैं जो बुने
मैं तो हर मोड़ पर...

Sad
मेरी ज़िन्दगी में वो ही गम रहा
तेरा साथ भी तो बहुत कम रहा
दिल ने, साथी मेरे, तेरी चाहत में थे
ख्वाब क्या क्या बुने
मैं तो हर मोड़ पर...

तेरे गेसूओं का वो साया कहाँ
वो बाहों का तेरी सहारा कहाँ
अब वो आँचल कहाँ, मेरी पलकों से
जो भीगे मोती चुने
मैं तो हर मोड़ पर...


तुम्हीं रहनुमा हो - Tumhi Rehnuma Ho (Asha Bhosle, Do Raha)



Movie/Album: दो राह (1971)
Music By: सपन जगमोहन
Lyrics By: इन्दीवर
Performed By: आशा भोंसले

तुम्हीं रहनुमा हो, मेरी ज़िन्दगी के
बिगाड़ो मुझे या संवारो मुझे
मुझे शर्म कैसी, मेरे साथ तुम हो
किसी रास्ते से गुज़ारो मुझे
तुम्हीं रहनुमा हो मेरी...

तुम्हारे लिए तो मैं मर के भी जी लूँ
शराबें तो क्या है, ज़हर भी मैं पी लूँ
लगे डगमगाने, कदम आज मेरे
सहारा तो दो ऐ सहारों मुझे
मुझे शर्म कैसी...

मैं हूँ लाज घर की, तुम्हारी आरती हूँ
मगर महफ़िलों की शम्मा बन गयी हूँ
मेरा अब यहाँ से, पलटना है मुश्किल
भले ही कहीं से पुकारो मुझे
तुम्हीं रहनुमा हो मेरी...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com