Shabbir Kumar लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Shabbir Kumar लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

जब हम जवां होंगे - Jab Hum Jawaan Honge (Lata Mangeshkar, Shabbir Kumar, Betaab)



Movie/Album: बेताब (1983)
Music By: आर.डी.बर्मन
Lyrics By:
आनंद बक्षी
Performed By: लता मंगेशकर, शब्बीर कुमार

जब हम जवां होंगे, जाने कहाँ होंगे
लेकिन जहाँ होंगे, वहाँ फ़रियाद करेंगे
तुझे याद करेंगे

ये बचपन का प्यार अगर खो जाएगा
दिल कितना खाली खाली हो जाएगा
तेरे ख़यालों से इसे आबाद करेंगे
तुझे याद करेंगे...

ऐसे हँसती थी, वो ऐसे चलती थी
चाँद के जैसे छुपती और निकलती थी
सबसे तेरी बातें, तेरे बाद करेंगे
तुझे याद करेंगे...

तेरे शबनमी ख्वाबों की तस्वीरों से
तेरी रेशमी ज़ुल्फों की ज़ंजीरों से
कैसे हम अपने आप को आज़ाद करेंगे
तुझे याद करेंगे...

जहर जुदाई का पीना पड़ जाए तो
बिछड़ के भी हमको जीना पड़ जाए तो
सारी जवानी बस यूँ ही बरबाद करेंगे
तुझे याद करेंगे...


सो गया ये जहां - So Gaya Ye Jahan (Nitin, Alka, Shabbir, Tezaab)



Movie/Album: तेज़ाब (1988)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: जावेद अख्तर
Performed By: अल्का यागनिक, नितिन मुकेश, शब्बीर कुमार

सो गया ये जहां, सो गया आसमां
सो गईं हैं सारी मंज़िलें, सो गया है रस्ता
सो गया ये जहां...

रात आई तो वो जिनके घर थे
वो घर को गए सो गए
रात आई तो हम जैसे आवारा
फिर निकले राहों में और खो गए
इस गली, उस गली, इस नगर, उस नगर
जाएँ भी तो कहाँ जाना चाहें अगर
सो गई हैं सारी मंज़िलें...

कुछ मेरी सुनो, कुछ अपनी कहो
हो पास तो ऐसे, चुप ना रहो
हम पास भी हैं, और दूर भी हैं
आज़ाद भी हैं, मजबूर भी हैं
क्यूँ प्यार का मौसम बीत गया
क्यूँ हमसे ज़माना जीत गया
हर घड़ी मेरा दिल ग़म के घेरे में है
ज़िन्दगी दूर तक अब अँधेरे में है
सो गयी हैं सारी मंज़िलें...


प्यार किया नहीं जाता - Pyar Kiya Nahin Jaata (Lata Mangeshkar, Shabbir Kumar, Woh Saat Din)



Movie/Album: वो सात दिन (1983)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्शी
Performed By: लता मंगेशकर, शब्बीर कुमार

प्यार किया नहीं जाता
हो जाता है
दिल दिया नहीं जाता
खो जाता है

प्यार पे ज़ोर नहीं कोई
नींदें हज़ारों ने खोई
आकर दिल की बातों में
लम्बी-लम्बी रातों में
प्रेमी जागते रहते हैं
इसीलिए तो कहते हैं
के प्यार किया नहीं जाता...

दिल का बंधन ऐसा है
हाल ना पूछो कैसा है
जान हमारी जाती है
याद तुम्हारी आती है
आँख से आँसू बहते हैं
इसीलिए तो कहते हैं के प्यार किया नहीं जाता...

इन झूलों के मौसम में
इन फूलों के मौसम में
काँटें प्यार चुभोता है
दर्द जिगर में होता है
हँस के हम सब सहते हैं
इसीलिए तो कहते हैं
के प्यार किया नहीं जाता...


तुझे इतना प्यार करें - Tujhe Itna Pyaar Karen (Shabbir Kumar, Lata Mangeshkar, Kudrat Ka Kanoon)



Movie/Album: कुदरत का कानून (1987)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: समीर
Performed By: शब्बीर कुमार, लता मंगेशकर

तुझे इतना प्यार करें
तुझे कितना प्यार करें
आज कहे तू जितना
हम तुझे उतना प्यार करें
तुझे इतना प्यार करें...

जब हम अपनी आँखें खोलें
तेरा चेहरा सामने आये
जब हम पलकें बंद करें
ख़्वाबों में तू मुस्काये
दुनिया की हर एक शै में
तेरा दीदार करें
तुझे इतना प्यार करें...

हर मौसम हमको तेरी
यादों का मौसम लगता है
तुझको जितना प्यार करें
उतना ही कम लगता है
ये प्यार ना होगा कम
आ जा इकरार करें
तुझे इतना प्यार करें...

फूलों और बहारों से
हम डोली तेरी सजायेंगे
याद तेरी जब आयेगी
दिल को कैसे समझायेंगे
ममता से दुआओं से
आ दामन तेरा भरें
तुझे कितना प्यार करें...


मुझे पीने का शौक नहीं - Mujhe Peene Ka Shauk Nahin (Shabbir Kumar, Alka Yagnik, Coolie)



Movie/Album: कुली (1983)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: शब्बीर कुमार, अलका याग्निक

मुझे पीने का शौक़ नहीं, पीता हूँ ग़म भुलाने को
तेरी यादें मिटाने को, पीता हूँ ग़म भुलाने को
मुझे पीने का शौक़ नहीं...

मुझे पीने का शौक़ नहीं, पीती हूँ ग़म भुलाने को
तेरी यादें मिटाने को, पीती हूँ ग़म भुलाने को
मुझे पीने का शौक़ नहीं...

लाखों में हज़ारों में, इक तू ना नज़र आई
तेरा कोई ख़त आया, न कोई खबर आई
क्या तूने भुला डाला, अपने इस दीवाने को
मुझे पीने का शौक़ नहीं...

खोई वो किताब-ए-दिल, जिस दिल का है ये क़िस्सा
एक हिस्सा है पास मेरे, तेरे पास है एक हिस्सा
मैं पूरा करूँ कैसे, इस दिल के फ़साने को
मुझे पीने का शौक़ नहीं...

मिल जाते अगर अब हम, आग लग जाती पानी में
बचपन सी वही दोस्ती, हो जाती जवानी में
चाहत में बदल देते, हम इस दोस्ताने को
मुझे पीने का शौक़ नहीं...


अपने दिल से बड़ी दुश्मनी - Apne Dil Se Badi Dushmani (Lata Mangeshkar, Shabbir Kumar, Betaab)



Movie/Album: बेताब (1983)
Music By: राहुल देव बर्मन
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: लता मंगेशकर, शब्बीर कुमार

अपने दिल से बड़ी दुश्मनी की
किसलिए मैंने तुमसे दोस्ती की
अपने दिल को जला के रोशनी की
किसलिए मैंने तुमसे दोस्ती की
अपने दिल से बड़ी दुश्मनी...

तुमने अच्छा सहारा दिया, बेसहारा मुझे कर दिया
कल गले से लगाया मुझे, आज ठुकरा दिया बेवफा
तुमने अच्छी सनम दिल्लगी की, किसलिए मैंने तुमसे दोस्ती की
अपने दिल से बड़ी दुश्मनी...

आसमां बन गयी ये ज़मीं, मेरे हमदम मेरे हमनशीं
तुमने देखी मेरी बेरूख़ी, बेबसी मेरी देखी नहीं
मैं हूँ तस्वीर इक बेकसी की, किसलिए मैंने तुमसे दोस्ती की
अपने दिल को जला के...

हर खुशी बस पराई हुई, मेरी दुश्मन खुदाई हुई
मुझको अफ़सोस है प्यार में, मुझसे ये बेवफ़ाई हुई
मैंने तुम पे फिदा ज़िंदगी की, किसलिए मैंने तुमसे दोस्ती की
अपने दिल को जला के...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com