Sharabi (1964) लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Sharabi (1964) लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

तुम हो हसीं कहाँ के - Tum Ho Haseen Kahan Ke (Md.Rafi, Asha Bhosle, Sharabi)



Movie/Album: शराबी (1964)
Music By: मदन मोहन
Lyrics By: राजिंदर कृष्ण
Performed By: मो.रफ़ी, आशा भोंसले

तुम हो हसीं कहाँ के
हम चाँद आसमां के
हाय हाय गरूर इतना
हाँ हाँ हुज़ूर इतना
उफ़ ये अदा, हाय ये नशा
हा हा हा

करते हो बात बढ़-बढ़ के दिन जो शबाब के ठहरे
क्या तीर मेरी नज़रों के दिल में जनाब के ठहरे
उफ़ ये ग़ज़ब, हाय हाय ये ढप
हाय हाय हाय
तुम हो हसीं कहाँ के...

ओये होए ये चाल का जादू, डर है ज़मीं ना फट जाए
सीने को थाम कर रखो, दिल न जगह से हट जाए
उफ़ ये अकड़, हाय ये पकड़
हाय हाय हाय
तुम हो हसीं कहाँ के...

क्या रब जो हुस्न वालों को कैसा मिजाज़ देता है
जीवन में सेज फूलों की, मरने पे ताज देता है
हाय ये गुमां, जाए कहाँ
हाय हाय हाय
तुम हो हसीं कहाँ के...


जाओ जी जाओ देखे हैं बड़े - Jaao Ji Jaao Dekhe Hain Bade (Asha Bhosle, Md.Rafi, Sharabi)



Movie/Album: शराबी (1964)
Music By: मदन मोहन
Lyrics By: राजिंदर कृष्ण
Performed By: आशा भोंसले, मो.रफ़ी

जाओ जी जाओ, देखे हैं बड़े
तुम जैसे चोर लुटेरे
किसी सँवार के
सीना उभार के लगाये
हसीनों की गलियों के फेरे
जाओ जी जाओ...

तेरी गलियाँ जो प्यार से बुलाये
तु ही बोल दिल वाले क्यूँ न आये
ज़रा दिल को संभाल, बुरा कर देगा हाल
आहें भरेगा तु शाम सवेरे
जाओ जी जाओ, देखे हैं बड़े...

मर-मर के मिला है दर तेरा
जाओ करते हो क्यों पीछा मेरा
करो जाने की न बात, यहीं दिन-यहीं रात
मेरा प्यार लगाए डेरे
जाओ जी जाओ, देखे हैं बड़े...

प्यार करने में कौन सी है चोरी
ऐसी चोरी से तो अच्छी सीनाज़ोरी
कभी सुबह, कभी शाम, तुझे दे के सलाम
कर लेंगे ये चोर लुटेरे
जाओ जी जाओ, देखे हैं बड़े...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com