Shilpa Rao लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Shilpa Rao लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

यारियाँ - Yaariyaan (Mohan, Shilpa, Sunidhi, Arijit, Cocktail)



Movie/Album: कॉकटेल (2012)
Music By: प्रीतम चक्रबर्ती
Lyrics By: इरशाद क़ामिल
Performed By: मोहन कन्नन, शिल्पा राव, सुनिधि चौहान, अरिजीत सिंह

अलविदा यारा अलविदा
हो रहे तुमसे हम जुदा
ले चले सारे गम तेरे
खुश रहे यारा तू सदा
तुमसे भी ज्यादा होंगी
अब यादें प्यारियाँ
हम दोनों की हैं अपनी-अपनी लाचारियाँ
अब हँसते-हँसते तुम पे ले खुशियाँ वारियाँ

मर्ज़ भी हैं देती
चैन भी हैं देती
दर्द भी हैं देती
जान भी हैं लेती
यारियाँ
ना छोड़े यारियाँ

अब जीने को जाने को ना कोई रास्ता
तन्हाईयों से होगा अब दिल का वास्ता
हम खुद ही खुद को अब तो कर देंगे लापता

मान ले तू ऐसे
हैं ज़रा भोले से
जानते हैं वैसे
है निभानी कैसे
यारियाँ
ना छोड़े यारियाँ

यारी यारी हर कोई करदा वे
यारों दे बस जो पहि जावे
वो पगला या झल्ला है


गुस्ताख दिल - Gustakh Dil (Amit Trivedi, Shilpa Rao, English Vinglish)



Movie/Album: इंग्लिश विन्ग्लिश (2012)
Music By: अमित त्रिवेदी
Lyrics By: स्वानंद किरकिरे
Performed By: अमित त्रिवेदी, शिल्प राव

गुस्ताख दिल, दिल में मुश्किल, मुश्किल में दिल
गुस्ताख दिल, थोड़ा संगदिल, थोड़ा बुजदिल
दर्द के दर पे, ठहरा है क्यूँ
सज़ा-सज़ा ये खुद को क्यूँ देता नहीं
हँसने की धुन में, रोता है क्यूँ
सही क्या, गलत क्या, ये कुछ भी समझता नहीं
गुस्ताख दिल...

है बर्फ सी सांसों में, आँखों में धुआं-धुआं
ये हर पल क्यूँ, खेले है, ग़म का, ख़ुशी का, जुआ-जुआ
ये उम्मीदों भरा, ये खुद से ही डरा
सुलझे धागों में, उलझा है क्यूँ
सलाहें-सलाहें ये खुद की भी सुनता नहीं
गुस्ताख दिल...

क्यूँ बातों ही बातों में फिसलती है, ज़ुबां-ज़ुबां
किसी शय ना, ठहरती है, बहकती है, निगाह निगाह
ये कैसे कब हुआ, ये कह दूँ क्यूँ हुआ
गिरता नहीं तो, संभालता है क्यूँ
झुकाए-झुकाए ये मगरूर झुकता नहीं
गुस्ताख दिल...


मनमर्ज़ियाँ - Manmarziyan (Amit Trivedi, Amitabh Bhattacharya, Shilpa Rao, Lootera)



Movie/Album: लूटेरा (2013)
Music By: अमित त्रिवेदी
Lyrics By: अमिताभ भट्टाचार्य
Performed By: अमिताभ भट्टाचार्य, अमित त्रिवेदी, शिल्पा राव

यूँ तो सोलह सावन आये गये
गौर नहीं किया हमने
भीगा मन का आँगन इस मर्तबा
क्या जाने क्या किया तुमने

दिल में जागी, इश्क वाली
मनमर्ज़ियाँ, मनमर्ज़ियाँ
ज़िद्द की मारी, भोली भाली
मनमर्ज़ियाँ, मनमर्ज़ियाँ

अब तलक से, कुछ अलग सी
मनमर्ज़ियाँ, मनमर्ज़ियाँ
हम ज़मीन पे, तो फलक से
मनमर्ज़ियाँ, मनमर्ज़ियाँ

सिक्कों जैसे, है उछाली
मनमर्ज़ियाँ, मनमर्ज़ियाँ
ज़िद्द की मारी, भोली भाली
मनमर्ज़ियाँ, मनमर्ज़ियाँ

बे-अदब सी, पर गज़ब सी
मनमर्ज़ियाँ, मनमर्ज़ियाँ
होश खोया, पर संभाली
मनमर्ज़ियाँ, मनमर्ज़ियाँ


बुलेया - Bulleya (Amit Mishra, Shilpa Rao, Ae Dil Hai Mushkil)



Movie/Album: ऐ दिल है मुश्किल (2016)
Music By: प्रीतम चक्रवर्ती
Lyrics By: अमिताभ भट्टाचार्य
Performed By: अमित मिश्रा, शिल्पा राव

मेरी रूह का परिंदा फड़फड़ाये
लेकिन सुकूँ का जज़ीरा मिल न पाए
वे की करां, वे की करां
इक बार को तजल्ली तो दिखा दे
झूठी सही मगर तसल्ली तो दिला दे
वे की करां, वे की करां
रांझण दे यार बुल्लेया
सुन ले पुकार बुल्लेया
तू ही तो यार बुल्लेया
मुर्शिद मेरा, मुर्शिद मेरा
तेरा मुकाम कमले
सरहद के पार बुलेया
परवर दिगार बुलेया
हाफ़िज़ तेरा, मुर्शिद मेरा

मैं काबुल से लिपटी तितली की तरह मुहाजिर हूँ
एक पल को ठहरूँ, पल में उड़ जाऊँ
वे मैं ता हूँ पगडण्डी लब दी, ऐ जो राह जन्नत दी
तू मुड़े जहाँ मैं साथ मुड़ जाऊँ
तेरे कारवां में शामिल होना चाहूँ
कमियाँ तराश के मैं क़ाबिल होना चाहूँ
वे की करां, वे की करां...

रान्झणा वे, रान्झणा वे
जिस दिन से आशना से, दो अजनबी हुए हैं
तन्हाइयों के लम्हें सब मुल्तवी हुए हैं
क्यूँ आज मैं मोहब्बत फिर एक बार करना चाहूँ
ये दिल तो ढूंढता है, इनकार के बहाने
लेकिन ये जिस्म कोई, पाबंदियां न माने
मिल के तुझे बगावत, खुद से ही यार करना चाहूँ
मुझमें अगन है बाकी आज़माले
ले कर रही हूँ खुद को मैं तेरे हवाले
वे रान्झणा, वे रान्झणा
रांझण दे यार बुल्लेया...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com