Simran लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Simran लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

पिंजरा तोड़ के - Pinjra Tod Ke (Sunidhi Chauhan, Simran)



Movie/Album: सिमरन (2017)
Music By: सचिन-जिगर
Lyrics By: प्रिया सरैय्या
Performed By: सुनिधि चौहान

सितारों में, सितारा जो
है मेरे नाम का
चमका अभी
ज़मीं पे है, ये रौशनी
या है आसमां
बिखरा अभी
जन्नत के साये
जन्नत ले आये
है बाहों में
अब ज़िन्दगी
किस्मत की डोरी जो
बाँधी वो खोली, जीने चली
मैं अब ज़िन्दगी
पिंजरा तोड़ के, तोड़ के
उड़ जाना है
बाहें खोल के, खोल के
उड़ जाना है
पिंजरा तोड़ के...

वो ही हूँ मैं, या हूँ नई
अब कुछ फर्क सा, है जीने में
उतर गया, सुकून से
जो कोई क़र्ज़ था, इस सीने में
जन्नत के साए
जन्नत ले आये
मेरे वास्ते
ये कर लूँ यकीं
अब इस पल को, इतनी दरख्वास्त है
के पल में कहीं, गुम होना नहीं
पिंजरा तोड़ के...

लहरें ख्वाहिशों की दिल में
मेरी बह चली
राहें वो पुरानी छोड़ के
अब मैं चली
पिंजरा तोड़ के...


मीत - Meet (Arijit Singh, Aditi Singh Sharma, Simran)



Movie/Album: सिमरन (2017)
Music By: सचिन-जिगर
Lyrics By: प्रिया सरैय्या
Performed By: अरिजीत सिंह, अदिति सिंह शर्मा

कोरे से पन्ने जैसे ये दिल ने
कोई गज़ल पायी
पहली बारिश इस ज़मी पे
इश्क ने बरसाई
हर नज़र में ढूँढी जो थी
तुझमें पाई वफ़ा
जान मेरी बन गया तू
जान मैंने लिया
तू ही मेरा मीत है जी
तू ही मेरी प्रीत है जी
जो लबों से हो सके ना जुदा
ऐसा मेरा गीत है जी
तू ही मेरा मीत है...

खोलूँ जो आँखें सुबह को मैं
चेहरा तेरा ही पाऊँ
ये तेरी नर्म सी धूप में अब से
जहां ये मेरा सजाऊँ
ज़रा सी बात पे जब हँसती(ता) है तू
हँसती है मेरी ज़िन्दगी
तू ही मेरा मीत है...


सिमरन - Simran Title (Jigar Saraiya, Simran)



Movie/Album: सिमरन (2017)
Music By: सचिन-जिगर
Lyrics By: प्रिया सरैय्या
Performed By: जिगर सरैय्या

ओ चुलबुली है, चुलबुली है
नकचड़ी है, मनचली है
पलक झपकते, फलक चुरा ले
अपनी सिमरन
जा जा जानी अनजानी
थोड़ी सी दीवानी
दीवाना सबको बना दे
अपनी सिमरन
हो सुलझा के ही खुद ही ये बढ़ाये
अपने दिल और दिमाग की उलझन
ओये ओये ओये सिमरन
अल्हड़ सी सिमरन
ओ ना जाने तू चली रे कहाँ
ओये ओये ओये सिमरन
उड़ी उड़ी उड़ी सिमरन
ओ ना जाने तू चली रे कहाँ आ आ
ओ ख्वाब नैनो में कई सारे, सारे-सारे
उड़ते फिरे बंजारे
नैनों की खिड़की से झाँके
बेचारे मतमारे
ख्वाबों से भरा मन
ओये ओये ओये सिमरन
अल्हड़ सी सिमरन...

तू थोड़ी ज्यादा, सब थोड़े कम हैं
प्यारा सा तू है, ख़तरा-ए-जान मेरी
किस्से अधूरे, जेबें भी खाली
फिर भी बड़ा है सपना, हाँ
चुम्बक जैसी मुस्कानें
होंठों पे तू है सजाये हाँ
ये बड़ी-बड़ी अँखियों से
तू देखे जिसको भी
रुका दे धड़कन
ओये ओये ओये सिमरन...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com