Sonik-Omi लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Sonik-Omi लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

आई आई रे होली - Aayi Aayi Re Holi (Asha Bhosle, Manna Dey, Aabroo)



Movie/Album: आबरू (1968)
Music By: सोनिक ओमी
Lyrics By: जी.एल.रावल
Performed By: आशा भोंसले, मन्ना डे

आई आई रे होलीओ रंग लायी रे होली
ओ नाचो नाचो
बहारें संग लायी रे होली

होंठ गुलाबी, नैन शराबी
मस्त जवानी छायी है
मुखड़े से जो बच गयी लाली
वो फूलों पे आई है

आज मेरे घर साजन आये
देख जिसे चंदा शरमाये
कहीं लगे न चाँद की नजरिया
बड़ी दुश्मन है जुल्मी नजरिया
हाय मैं तो रख लूँगा सारी उमरिया
प्यार में ऐसा शाम ना करना
राधा को बदनाम ना करना
मेरी कोरी है लाज की चुनरिया
हाय रंग डालो ना मुझपे सांवरिया
मैं तो आई हूँ रंग में तेरे हो के बावरिया
आज मेरे घर सजन आये
देख जिसे चंदा शरमाये

युग युग से है साथ हमारा
तु है नदिया मैं हूँ किनारा
भारत की चले रंग की धारा
तुझ बिन सूनी मेरी बांसुरिया
प्यार में ऐसे शाम ना करना...

मर मर जाऊं लाज की मारी
ताने देंगी सखियाँ सारी
है गुलाल रंग झूमें नर नारी
क्यूँ रंग डारी मेरी चुनरिया
आज मेरे घर साजन आये...

तु है राधा मेरी, मैं तेरा मोहन
टूटे ना ये प्यार का बंधन
होली आई है गले लगा लो सजना
आज मुझको तुम अपना बना लो सजना


कलियों ने घूंघट खोले - Kaliyon Ne Ghunghat Khole (Md.Rafi, Dil Ne Phir Yaad Kiya)



Movie/Album: दिल ने फिर याद किया (1966)
Music By: सोनिक-ओमी
Lyrics By: जी.एल.रावल
Performed By: मोहम्मद रफ़ी

कलियों ने घूँघट खोले, हर फूल पे भँवरा डोले
लो आया प्यार का मौसम, गुल-ओ-गुलज़ार का मौसम
कलियों ने घूँघट खोले...

ओ होय, जब तू चमन में आए, हर गुंचा मुस्कराए
है बेहिजाब तेरा शबाब, हम हो गए दीवाने
लो आया प्यार का मौसम, तेरे दीदार का मौसम
कलियों ने घूँघट खोले...

ओ होय, हर-सू तेरा नशा है, हर ज़र्रा पी रहा है
तू आफ़ताब जाम-ए-शराब, रोशन हुए मैख़ाने
लो आया प्यार का मौसम, विसाल-ए-यार का मौसम
कलियों ने घूँघट खोले...

ओ होय, जान-ए-बहार आ जा, दिल के क़रार आ जा
ये शब ये ख़्वाब ये माहताब, अब तो लगे तड़पाने
लो आया प्यार का मौसम, मेरे दिलदार का मौसम
कलियों ने घूँघट खोले...


राज़ की बात कह दूँ - Raaz Ki Baat Keh Doon (Asha Bhosle, Md.Rafi, Dharma)



Movie/Album: धर्मा (1973)
Music By: सोनिक-ओमी
Lyrics By: वर्मा मलिक
Performed By: आशा भोंसले, मोहम्मद रफ़ी

ये ख़ुशी, ये महफ़िल और जो नया अंदाज़ है
समझनेवालों, समझ लो, इस में भी एक राज़ है

राज़ की बात कह दूँ तो
जाने महफ़िल में फिर क्या हो
राज़ खुलने का तुम पहले
ज़रा अंजाम सोच लो
इशारों को अगर समझो
राज़ को राज़ रहने दो

ज़बाँ पे बात जो आई, कभी रूकती नहीं है
उठ गई आँख जो एक बार, वो झुकती नहीं है
उम्मीदों का कभी ना, सामने मैं ख़ून होने दूँ
हक़ीक़त को छुपाऊँगी, तो वो छुपती नहीं है
जो बरसों से छुपी दिल में, उसे होंठों पे आने दो
राज़ की बात कह दूँ...

उठे आँखे जो महफ़िल में, वो आँखे फोड़ के रख दूँ
बढ़े जो हाथ, तो उस हाथ को, मैं (मेरी जाँ) तोड़ के रख दूँ
जो नावाक़िफ़ हैं मुझ से, आज उनसे जा के ये कह दो
ज़ुबाँ पे राज़ आया तो, ज़ुबाँ को मोड़ के रख दूँ
ख़ुशी से कोई जीता है, ख़ुशी से उसको जीने दो
इशारों को अगर समझो...

उसी को छीनकर तेरी नज़र से दूर कर दूँ
तुझे मैं आँहें भरने के लिए (हाँ मैं) मजबूर कर दूँ
यहाँ बदनाम कर दूँ, वहाँ मशहूर कर दूँ
ज़बाँ खुल जाए गर मेरी, तो चकनाचूर कर दूँ
ज़रा अफ़साने का पहले, पता लगने दो दुनिया को
राज़ की बात कह दूँ...

ये सूरज, चाँद और तारे, चले मेरे इशारों पर
हुकूमत है मेरी दरिया, समंदर और किनारों पर
मैं अपने हाथों से, इस दुनिया की तक़दीर लिखता हूँ
मगर फिर तरस आता है, तेरे जैसे बिचारों पर
नहीं पैदा हुआ कोई, जो रोके मेरी राहों को
इशारों को अगर समझो...

तुम्हारी ज़ात क्या है?
तेरी औकात क्या है?
तुम्हारे क्या इरादे?
ये पहले तू बता दे
हुस्न की मार बुरी है
इश्क़ की ख़ार बुरी है
नज़र का तीर जो छोड़ूँ?
तीर को ऐसे तोड़ूँ
अगर घूंघट उठा दूँ?
तो मैं आँखें लड़ा दूँ
कमर के देख झटके
इधर भी देख पलट के
तू मुझ को ना पहचाने
मुझे तू भी न जाने
बदन मेरा है कुंदन
मेरा दिल भी है चन्दन
मैं चन्दन की खुशबू हूँ
मैं चन्दन, मैं चन्दन, मैं चन्दन हू-ब-हू हूँ
इशारों को अगर समझो...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com