Suresh Wadkar लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Suresh Wadkar लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

ओ प्रिया प्रिया - O Priya Priya (Suresh Wadkar, Anuradha Paudwal, Dil)



Movie/Album: दिल (1990)
Music By: आनंद मिलिंद
Lyrics By: समीर
Performed By: सुरेश वाडकर, अनुराधा पौडवाल

ओ प्रिया, प्रिया, क्यूँ भुला दिया
बेवफा या बेरहम, क्या कहूँ तुझे सनम
तूने दिल तोड़ा है, भूल क्या हुई ये बता जा
ओ पिया, पिया, मै तेरी पिया
आँसुओं को पी गयी, जाने कैसे जी गयी
क्या है मेरी मजबूरी, कैसे मैं बताऊँ हुआ क्या
ओ प्रिया, प्रिया, क्यूँ भुला दिया...

तू बेवफा है जो मैं जान जाता
तुझसे कभी भी दिल ना लगाता
मुझपे यकीन कर, यूँ न इल्ज़ाम दे
दे कोई सज़ा मगर, बेवफा न नाम दे
मेरी दिलरुबा, तुने की जफ़ा
पर तुझे भूलेगी ना मेरी वफ़ा
ओ पिया पिया...

जी चाहता है, खुद को जला दूँ
मौत को अपने दिल से लगा लूँ
आ के ज़रा देख ले दिल मेरा चीर के
रंग मिलेंगे तुझे तेरी तसवीर के
मेरे साथिया, तेरा हो भला
यही मेरे टूटे हुए, दिल की सदा
ओ पिया पिया...


प्यार ये जाने कैसा - Pyar Ye Jaane Kaisa (Kavita, Suresh, Rangeela)



Movie/Album: रंगीला (1996)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By:
महबूब
Performed By: कविता कृष्णमूर्ति, सुरेश वाडकर

प्यार ये जाने कैसा है
क्या कहें ये कुछ ऐसा है
कभी दर्द ये देता है, कभी चैन ये देता है
कभी ग़म देता है, कभी ख़ुशी देता है

दिन तो गुज़रता है जिसके ख़यालों में
रातें गुज़रती हैं उसकी ही यादों में
वक़्त मिलन का आये तो बागों में
झूमें बहारें फूलों की गलियों में
भँवरों की टोली आये
कलियों पे वो मंडलाए
डर ये ख़िज़ां का भी दिल से मिटाये
प्यार ये जाने कैसा है...

आँखों पे छाये ये सपना बन के तो
कोई पराया आये अपना बन के
चलते-चलते राहों की धूप में
साथी मिल जाये कोई साया बन के
मंज़िल आये न आये
या कोई तूफ़ाँ आये
दिलवालों को ये जीना सिखाये
प्यार ये जाने कैसा है...


लगी आज सावन की - Lagi Aaj Sawan Ki (Suresh Wadkar, Anupama Deshpande, Chandni)



Movie/Album: लगी आज सावन की (1989)
Music By: शिव-हरी
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: सुरेश वाडकर, अनुपमा देशपांडे

लगी आज सावन की फिर वो झड़ी है
वही आग सीने में फिर जल पड़ी है
लगी आज सावन की...

कुछ ऐसे ही दिन थे वो जब हम मिले थे
चमन में नहीं, फूल दिल में खिले थे
वही तो है मौसम मगर रुत नहीं वो
मेरे साथ बरसात भी रो पड़ी है
लगी आज सावन की...

कोई काश दिल पे ज़रा हाथ रख दे
मेरे दिल के टुकड़ों को एक साथ रख दे
मगर ये है ख़्वाबों-ख्यालों की बातें
कभी टूट कर चीज़ कोई जुड़ी है
लगी आज सावन की...


भँवरे ने खिलाया फूल - Bhanware Ne Khilaya Phool (Lata, Suresh, Prem Rog)



Movie/Album: प्रेम रोग (1982)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: नरेन्द्र शर्मा
Performed By: लता मंगेशकर, सुरेश वाडकर

भँवरे ने खिलाया फूल, फूल को ले गया राज-कुंवर
भंवरे तू कहना न भूल, फूल तुझे लग जाये मेरी उमर
भँवरे ने खिलाया...

भँवरे ने खिलाया फूल, फूल को ले गया राज-कुंवर
भंवरे तू कहना न भूल, फूल तेरा हो गया इधर-उधर
भँवरे ने खिलाया...

वो दिन अब ना रहे
क्या-क्या विपदा पड़ी फूल पर कैसे फूल कहे
वो दिन अब ना रहे
होनी थी या वो अनहोनी जाने इसे विधाता
छूटे सब सिंगार गिरा गल-हार टूटा हर नाता
शीश-फूल मिल गया धूल में क्या-क्या दुःख न सहे
वो दिन अब ना रहे
भंवरे तू कहना न भूल, फूल डाली से गया उतर
भँवरे ने खिलाया...

सुख-दुःख आये-जाये
सुख की भूख न दुःख की चिंता, प्रीत जिसे अपनाये
सुख-दुःख आये-जाये
मीरा ने पिया विष का प्याला, विष को भी अमृत कर डाला
प्रेम का ढाई अक्षर पढ़ कर मस्त कबीरा गाये
सुख-दुःख आये-जाये
भंवरे तू कहना न भूल, फूल गुज़रे दिन गए गुज़र
भँवरे ने खिलाया...

फैली-फूली फुलवारी में भंवरा
गुन-गुन गुन-गुन गुन-गुन गुन-गुन गाये
काहे सोवत निंदिया जगाये
लाखों में किसी एक फूल ने लाखों फूल खिलाये
मंद-मंद मुस्काये
हाय काहे सोवत निंदिया जगाये
भंवरे तू कहना ना भूल, फूल तेरा मधुर नहीं मधुकर
भँवरे ने खिलाया...
भँवरे तू कहना ना भूल, फूल मेरा सुन्दर सरल सुघड़
भँवरे ने खिलाया...


तुम जो मिले तो - Tum Jo Mile To (Suresh Wadkar, Drohi)



Movie/ Album: द्रोही (1992)
Music By: आर.डी.बर्मन
Lyrics By: जावेद अख़्तर
Performed By: सुरेश वाडकर

तुम जो मिले तो लगा है, जैसे मिली ज़िन्दगी
जाती कहाँ है ये राहें, जिनपे चली ज़िन्दगी
तुम जो मिले तो...

इतना मुझको कब था पता, ऐसा भी इक गाँव है
रस्ता तकती मेरा जहां, इन पलकों की छाँव है
हो मेरी तो थी धूप में ही, अब तक पली ज़िन्दगी
तुम जो मिले तो...

तुमको पा के ऐसा लगा, जितने थे ग़म खो गए
सदियों से हम पत्थर के थे, अब मोम के हो गए
कितने हसीं रूप में है, देखो ढली ज़िन्दगी
तुम जो मिले तो...

जीने को जीते थे मगर, इतनी ख़बर थी किसे
दिल में ऐसी गलियाँ भी हैं, जिनमें हैं सपने बसे
हो सपने मिले तो खिली है, बन के कली ज़िन्दगी
तुम जो मिले तो...


मेरी किस्मत में तू नहीं - Meri Qismat Mein Tu Nahin (Suresh Wadkar, Lata Mangeshkar, Prem Rog)



Movie/Album: प्रेम रोग (1982)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: अमीर क़ज़लबाश
Performed By: सुरेश वाडेकर, लता मंगेशकर

मेरी किस्मत में तू नहीं शायद, क्यूँ तेरा इंतज़ार करता हूँ
मैं तुझे कल भी प्यार करता था, मैं तुझे अब भी प्यार करता हूँ
आज समझी हूँ प्यार को शायद, आज मैं तुझ को प्यार करती हूँ
कल मेरा इंतज़ार था तुझ को, आज मैं इंतज़ार करती हूँ

सोचता हूँ कि मेरी आँखों ने, क्यों सजाये थे प्यार के सपने
तुझसे माँगी थी एक खुशी मैंने, तूने ग़म भी नहीं दिये अपने
ज़िंदगी बोझ बन गयी अब तो, अब तो जीता हूँ और न मरता हूँ
मैं तुझे कल भी प्यार...

अब न टूटे ये प्यार के रिश्ते, अब ये रिश्ते संभालने होंगे
मेरी राहों से तुझको कल की तरह, दुःख के काँटे निकालने होंगे
मिल न जाये खुशी के रस्ते में, गम की परछाइयों से डरती हूँ
कल मेरा इंतज़ार था...

दिल नहीं इख्तियार में मेरे, जान जायेगी प्यार में तेरे
तुझसे मिलने की आस है आ जा, मेरी दुनिया उदास है आ जा
प्यार शायद इसी को कहते हैं, हर घड़ी बेक़रार रहता हूँ
रात दिन तेरी याद आती है, रात दिन इंतज़ार करती हूँ
मेरी किस्मत में तू नहीं...


कितने अजीब रिश्ते हैं - Kitne Ajeeb Rishte Hain (Lata Mangeshkar, Suresh Wadkar, Page 3)



Movie/Album: पेज 3 (2005)
Music By: शमीर टंडन
Lyrics By: संदीप नाथ
Performed By: लता मंगेशकर, सुरेश वाडकर

कितने अजीब रिश्ते हैं यहाँ पे
दो पल मिलते हैं, साथ-साथ चलते हैं
जब मोड़ आये तो, बच के निकलते हैं
कितने अजीब रिश्ते हैं...

यहाँ सभी अपनी ही धुन में दीवाने हैं
करे वही जो अपना दिल ठीक माने है
कौन किसको पूछे, कौन किसको बोले
सबके लबों पर अपने तराने हैं
ले जाये नसीब किसको कहाँ पे
कितने अजीब रिश्ते हैं...

ख्वाबों की ये दुनिया है, ख्वाबों में ही रहना है
राहें ले जाये जहाँ संग-संग चलना है
वक़्त ने हमेशा यहाँ नए खेल खेले हैं
कुछ भी हो जाये यहाँ, बस खुश रहना है
मंज़िल लगे करीब सबको यहाँ पे
कितने अजीब रिश्ते हैं...

Slow
ठोकर भी खाना है, चलते भी जाना है
वादा किया तो वो, किसको निभाना है
यहाँ सबको सारे दाँव आज़माने हैं
सभी एक दूजे से ज़्यादा सयाने हैं
कितने अजीब रिश्ते हैं...


मोहब्बत है क्या चीज़ - Mohabbat Hai Kya Cheez (Suresh Wadkar, Lata Mangeshkar, Prem Rog)



Movie/Album: प्रेम रोग (1982)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: संतोष आनंद
Performed By: सुरेश वाडेकर, लता मंगेशकर

ये दिन क्यूँ निकलता है, ये रात क्यूँ होती है
ये पीड़ कहाँ से उठती है, ये आँख क्यूँ रोती है

मोहब्बत है क्या चीज़
मोहब्बत है क्या चीज़, हमको बताओ
ये किसने शुरू की, हमें भी सुनाओ

शाम तक था एक भँवरा, फूल पर मण्डला रहा
रात होने पर कमल की पंखड़ी में बंद था
क़ैद से छूटा सुबह तो हमने पूछा क्या हुआ
कुछ न बोला, अपनी धुन में बस यही गाता रहा
मोहब्बत है क्या चीज़...

दहकता है बदन कैसे, सुलगती हैं ये साँसें क्यों
ये कैसी आग होती है, पिघलती है ये शम्मां क्यूँ
जल उठी शम्मां तो मचल कर परवाना आ गया
आग के दामन में अपने-आपको लिपटा दिया
हमने पूछा दूसरे की आग में रखा है क्या
कुछ न बोला, अपनी धुन में बस यही गाता रहा
मोहब्बत है क्या चीज़...

नशा होता है कैसा, बहकते हैं क़दम कैसे
नज़र कुछ भी नहीं आता, ये मस्ती कैसी होती है
एक दिन गुज़रे जो हम, मयकदे के मोड़ से
एक मयकश जा रहा था, मय से रिश्ता जोड़ के
हमने पूछा किसलिये तू, उम्र भर पीता रहा
कुछ न बोला, अपनी धुन में बस यही गाता रहा
मोहब्बत है क्या चीज़...


सावन नहीं भादो नहीं - Sawan Nahin Bhadon Nahin (Asha Bhosle, Suresh Wadkar, Kudrat)



Movie/Album: कुदरत (1981)
Music By: राहुल देव बरमन
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: आशा भोंसले, सुरेश वाडकर

ओ सावन नहीं भादो नहीं
सावन नहीं भादो नहीं
ओ बिंदिया वाली बता
बिन बादल बिजली किधर चमकी
तूने कभी देखा है क्या
तूने अभी देखा है क्या
पगले नज़र तो उठा
बिन बादल बिजली इधर चमकी

अरे सुनकर के मेले की धूम
हम आए हैं तुम्हरे गाँव
हाँ गोरी संभालो हमें
कर दो चुनरिया की छाँव
अरे दिल पे कहीं गिर ना पड़े
धड़के हमारा जिया
बिन बादल बिजली...

दिखती नहीं सर पे धूप
सावन के अंधे हो क्या
अरे बिजली कहाँ बावरे
गोरा बदन है मेरा
अरे थोड़ा सा मैं बल खा गयी
तो झूमा मेरा झुमका
हो बिन बादल बिजली इधर चमकी
ओ सावन नहीं भादो नहीं...


फुटपाथों के हम - Footpathon Ke Hum (Suresh Wadkar, Anup Jalota, Hariharan, Shailendra Singh, Mashaal)



Movie/Album: मशाल (1984)
Music By: हृदयनाथ मंगेशकर
Lyrics By: जावेद अख्तर
Performed By: अनूप जलोटा, हरिहरन, सुरेश वाडकर, शैलेंद्र सिंह

फुटपाथों के हम रहने वाले
रातों ने पाला हम वो उजाले
आकाश सर पे पैरों तले
है दूर तक ये ज़मीं
और तो अपना कोई नहीं
फूटपाथों के हम...

कोई नहीं ना सही, हम क्यूँ आँसू बहाएँ
दुनिया जले तो जले, हम तुम मस्ती मे गाएँ
गम से निकल, भूल के चल, क्या होगा कल
अपना वही, इस पल मे जो है यहीं
और तो अपना कोई नहीं...

माँ नहीं बाप नहीं, जैसे जीयें पाप नहीं
ना कोई घर ना कोई दर, है पास क्या जिसका हो डर
ना मंज़िल है, ना साहिल है, हम हैं दिल है
ये दिल हमें, ले जाए चाहे कहीं
और तो अपना कोई नहीं...

हो बचपन में खेले गम से, निर्धन घरों के बेटे
फूलों की सेज नहीं, काँटों पे हम हैं लेटे
भूखे रहें, सौ गम सहें, दिल ये कहे
रोटी जहाँ, है स्वर्ग अपना वहीं
और तो अपना कोई नहीं...


चल चमेली बाग़ में - Chal Chameli Baagh Mein (Suresh Wadkar, Lata Mangeshkar, Krodhi)



Movie/Album: क्रोधी (1981)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: सुरेश वाडकर, लता मंगेशकर

चल चमेली बाग़ में मेवा खिलाऊँगा
मेवे की टहनी टूट गयी तो, चादर बिछाऊँगा
चादर का पल्लू फट गया तो, दर्जी बुलवाऊँगा
दर्जी की सुई टूट गयी तो, घोड़ा दौड़ाऊँगा
घोड़े की टाँग टूट गयी तो, तुमको उठाऊँगा
दिल में बिठाऊँगा
चल चमेली चमेली बाग़ में...

इतना सब कुछ कर के फिर दिल में बिठाओगे
पहले से ही दिल में बिठा लो तुम थक जाओगे
चल चमेली चमेली बाग़ में झूला झूलाऊँगी
झूले की रस्सी टूट जाएगी तो, आँचल बिछाऊँगी
आँचल का पल्लू फट गया तो, सी कर दिखाऊँगी
सुई जो मुझको चुभ गयी, हँसकर मनाऊँगी
हँसकर जो तुम ना माने तो रोकर दिखाऊँगी
तुम को मनाऊँगी
तुम मान जाओगे मैं रूठ जाऊँगी
चल चमेली बाग़ में...

यानी सारा वक़्त कटेगा तुम्हें मनाने में
घर में बैठो क्या रखा है बाग़ में जाने में
चल चमेली बाग़ मे पंछी दिखाऊँगा
पंछी डाली से उड़ गये तो, सीटी बजाऊँगा
सीटी से भी वो ना मुड़े तो, बंसी बजाऊँगा
बंसी जो गिर के टूट गयी तो, मैं गीत गाऊँगा
गीतों में तुमको प्यार की बातें सुनाऊँगा
दिन रात फिर तुमको मैं याद आऊँगा

याद ना आना वरना मुझको नींद न आएगी
आँखों ही आँखों में सारी रात जाएगी
चल चमेली बाग़ में चोरी से जाएँगे
चोरी से माली की सभी कलियाँ चुराएँगे
कलियाँ चुरा के तेरा गजरा बनाएँगे
ये तो सोचो क्या होगा जो पकड़े जाएँगे
पकड़े जाने से पहले तो हम भाग जाएँगे
चल चमेली बाग़ में...


मैं हूँ प्रेम रोगी - Main Hoon Prem Rogi (Suresh Wadkar, Prem Rog)



Movie/Album: प्रेम रोग (1982)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: सन्तोष आनंद
Performed By: सुरेश वाडकर

अरे कुछ नहीं, कुछ नहीं
फिर कुछ नहीं है भाता
जब रोग ये लग जाता
मैं हूँ प्रेम रोगी
मेरी दवा तो कराओ
जाओ जाओ जाओ
किसी वैद्य को बुआओ
मैं हूँ प्रेम रोगी...

कुछ समझा कुछ समझ न पाया
दिल वाले का दिल भर आया
और कभी सोचा जायेगा
क्या कुछ खोया, क्या कुछ पाया
जा तन लागे, वो तन जाने
ऐसी है इस रोग की माया
मेरी इस हालत को नज़र ना लगाओ
ओ जाओ जाओ जाओ
किसी वैद्य को बुआओ
मैं हूँ प्रेम रोगी...

सोच रहा हूँ जग क्या होता
इसमें अगर ये प्यार न होता
मौसम का एहसास न होता
गुल गुलशन गुलज़ार न होता
होने को कुछ भी होता पर
ये सुंदर संसार न होता
मेरे इन ख़यालों में तुम भी डूब जाओ
ओ जाओ जाओ जाओ
किसी वैद्य को बुआओ
मैं हूँ प्रेम रोगी...

यारों है वो क़िस्मत वाला
प्रेम रोग जिसे लग जाता है
सुख-दुःख का उसे होश नहीं है
अपनी लौ में रम जाता है
हर पल ख़ुद ही ख़ुद हँसता है
हर पल ख़ुद ही ख़ुद रोता है
ये रोग लाइलाज सही, फिर भी कुछ कराओ
जाओ जाओ जाओ
मेरे वैद्य को बुआओ
मेरा इलाज कराओ
और नहीं कोई तो मेरे यार को बुलाओ
जाओ जाओ जाओ
मेरे दिलदार को बुलाओ
जाओ जाओ जाओ
मेरे यार को बुलाओ
मैं हूँ प्रेम रोगी...


ये आँखें देख कर हम - Ye Aankhen Dekh Kar Hum (Suresh Wadkar, Lata Mangeshkar, Dhanwan)



Movie/Album: धनवान (1981)
Music By: हृदयनाथ मंगेशकर
Lyrics By: साहिर लुधियानवी
Performed By: सुरेश वाडकर, लता मंगेशकर

ये आँखें देख कर हम सारी दुनिया भूल जाते हैं
इन्हें पाने की धुन में हर तमन्ना भूल जाते हैं
तुम अपनी महकी-महकी ज़ुल्फ़ के पेचों को कम कर दो
मुसाफिर इनमें घिरकर अपना रस्ता भूल जाते हैं
ये आँखें देख कर...

ये बाहें जब हमें अपनी पनाहों में बुलाती हैं
हमें अपनी कसम हम हर सहारा भूल जाते हैं
तुम्हारे नर्म-ओ-नाज़ुक होंठ जिस दम मुस्कराते हैं
बहारें झेंपती हैं फूल खिलना भूल जाते हैं
ये आँखें देख कर...

बहुत कुछ तुमसे कहने की तमन्ना दिल में रखते हैं
मगर जब सामने आते हैं कहना भूल जाते हैं
मोहब्बत में ज़ुबाँ चुप हो तो आँखें बात करती हैं
वो कह देती हैं वो बातें जो कहना भूल जाते हैं
ये आंखें देख कर...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com