Tum Toh Nahin Ho लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Tum Toh Nahin Ho लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

रात आँखों में ढली - Raat Aankhon Mein Dhali (Jagjit Singh, Ghazal)



Movie/Album: तुम तो नहीं हो (2005)
Music By: जगजीत सिंह
Lyrics By: बशीर बद्र
Performed By: जगजीत सिंह

रात आँखों में ढली, पलकों पे जुगनू आए
हम हवाओं की तरह जा के उसे छू आएरात आँखों में ढली...

बस गई है मेरे एहसास में ये कैसी महक
कोई खुशबू मैं लगाऊँ तेरी खुशबू आए
हम हवाओं की तरह जा के उसे छू आए
रात आँखों में ढली...

उसने छू कर मुझे पत्थर से फिर इन्सान कियामुद्दतों बाद मेरी आँख में आँसूँ आए
रात आँखों में ढली...

मैंने दिन रात खुदा से ये दुआ माँगी थीकोई आहट ना हो दर पर मेरे जब तू आई
हम हवाओं की तरह जा के उसे छू आए
रात आँखों में ढली...


कभी तो आसमाँ से - Kabhi Toh Aasmaan Se (Jagjit Singh, Tum Toh Nahin Ho)



Movie/Album: तुम तो नहीं हो (2005)
Music By: जगजीत सिंह
Lyrics By: बशीर बद्र
Performed By: जगजीत सिंह

कभी तो आसमाँ से चाँद उतरे जाम हो जाए
तुम्हारे नाम की इक खूबसूरत शाम हो जाए
कभी तो आसमाँ से...

वो मेरा नाम सुन कर कुछ ज़रा शरमा से जाते हैं
बहुत मुमकिन है, कल इसका मुहब्बत नाम हो जाए

ज़रा सा मुस्कुरा कर हाल पूछो दिल बेहाल जाए
हमारा काम हो जाए, तुम्हारा नाम हो जाए
कभी तो आसमाँ से...

उजाले अपनी यादों के हमारे साथ रहने दो
न जाने किस गली में ज़िन्दगी की शाम हो जाए
कभी तो आसमाँ से...


खुश रहे या बहुत उदास - Khush Rahe Ya Bahut Udaas (Jagjit Singh, Ghazal)



Movie/Album: तुम तो नहीं हो (2005)
Music By: जगजीत सिंह
Lyrics By: बशीर बद्र
Performed By: जगजीत सिंह

खुश रहे या बहुत उदास रहे
ज़िन्दगी तेरे आस-पास रहे
खुश रहे या बहुत उदास...

आज हम सबके साथ खूब हँसे
और फ़िर देर तक उदास रहे
ज़िन्दगी तेरे आस-पास रहे
खुश रहे या बहुत उदास..

रात के रास्ते भी रौशन हो
हाथ में चाँद का गिलास रहे

आदमी के लिए ज़रूरी है
कोई उम्मीद कोई आस रहे
ज़िन्दगी तेरे आस-पास रहे
खुश रहे या बहुत उदास...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com