Usha Khanna लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Usha Khanna लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

मेरी पहले ही तंग थी चोली - Meri Pahle Hi Tang Thi Choli (Kishore, Anuradha, Souten)



Movie/Album: सौतन (1983)
Music By: उषा खन्ना
Lyrics By: सावन कुमार
Performed By: किशोर कुमार, अनुराधा पौड़वाल

रंग लाल पीला नीला हरा नीला
ओ मेरी पहले ही तंग थी चोली
ऊपर से आ गई बैरन होली
ज़ुल्म तूने कर डाला
प्यार में रंग डाला
मैं तो सरम से पानी पानी हो ली

हो तुझको सिलवा दूंगा नई चोली
के अब तू सोलह बरस की हो ली
ज़ुल्म तूने कर डाला
प्यार में रंग डाला
ओ हो बिना बन्दूक चल गई गोली
मेरी पहले ही तंग थी...

रंगीला रंगीला मौसम, रंगीला मौसम आया
तेरे मेरे प्यार के चर्चे होने लगे हैं गली गली
दुनिया वाले करने लगे हैं
बातें अब तो जली जली
ज़ुल्म तूने कर डाला...

साजन अब तो तुम बिन
हमसे रहा न जाएगा
जल्दी ही दीवाना तेरा
डोली लेकर आएगा
ज़ुल्म तूने कर डाला...


दिल देके देखो - Dil Deke Dekho (Md.Rafi, Dil Deke Dekho)



Movie/Album: दिल देके देखो (1959)
Music By: उषा खन्ना
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: मो.रफ़ी

दिल देके देखो, दिल देके देखो
दिल देके देखो जी
दिल लेने वालों, दिल देना सीखो जी
दिल लेने वालों
दिल देना सीखो जी

पूछो पूछो पूछो, परवाने से ज़रा
धीरे धीरे जलने में कैसा है मज़ा
तुम भी दिल देके जल जाना सीखो जी
कैसे?
दिल देके देखो...

समझो समझो समझो, दीवाने की ज़बां
प्यार जो ना होता, न होता ये जहां
तुम भी दिल देके ये गाना सीखो जी
क्या?
दिल देके देखो...


हम और तुम और ये समां - Hum Aur Tum Aur Ye Sama (Md.Rafi, Dil Deke Dekho)



Movie/Album: दिल देके देखो (1959)
Music By: उषा खन्ना
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: आशा भोंसले, मो.रफ़ी

हम और तुम और ये समां
क्या नशा नशा सा है
बोलिये न बोलिये
सब सुना सुना सा है

बेक़रार से हो क्यूँ
हमको पास आने भी दो
गिर पड़ा जो हाथ से
वो रुमाल उठाने भी दो
बनते क्यूँ हो जाने भी दो
हम और तुम...

आज बात बात पे
आप क्यूँ सँभलने लगे
थरथराए होंठ क्यूँ
अश्क़ क्यूँ मचलने लगे
लिपटे गेसू खुलने लगे
हम और तुम...


तू इस तरह से - Tu Iss Tarah Se (Md.Rafi, Manhar Udhas, Hemlata, Aap To Aise Na The)



Movie/Album: आप तो ऐसे ना थे (1980)
Music By: उषा खन्ना
Lyrics By: इन्दीवर
Performed By: मो.रफ़ी, मनहर उदास, हेमलता

तू इस तरह से मेरी ज़िन्दगी में शामिल है
जहाँ भी जाऊँ ये लगता है तेरी महफ़िल है

ये आसमान, ये बादल, ये रास्ते, ये हवा
हर एक चीज़ हैं अपनी जगह ठिकाने से
कई दिनों से शिकायत नहीं ज़माने से
ये ज़िन्दगी है सफ़र, तू सफ़र की मंज़िल है
जहाँ भी जाऊँ...

तेरे बगैर जहां में, कोई कमी सी थी
भटक रही थी जवानी अँधेरी राहों में
सुकून दिल को मिला आके तेरी बाहों में
मैं एक खोयी हुई मौज हूँ तू साहिल है
जहाँ भी जाऊँ...

तेरे जमाल से रोशन है कायनात मेरी
मेरी तलाश तेरी दिलकशी रहे बाकी
खुदा करे के ये दीवानगी रहे बाकी
तेरी वफ़ा ही मेरी हर ख़ुशी का हासिल है
जहाँ भी जाऊँ...

हर एक फूल किसी याद सा महकता है
तेरे ख़याल से जागी हुई फिजायें है
ये सब्ज़ पेड़ हैं, या प्यार की दुआएं है
तू पास हो के नहीं फिर भी तू मुक़ाबिल है
जहाँ भी जाऊँ...

हर एक शय है मोहब्बत के नूर से रोशन
ये रोशनी जो ना हो, ज़िन्दगी अधूरी है
रह-ए-वफ़ा में, कोई हमसफ़र ज़रूरी है
ये रास्ता कहीं तन्हाँ कटे तो मुश्किल है
जहाँ भी जाऊँ...


तेरी निगाहों पे मर - Teri Nigahon Pe Mar (Mukesh, Shabnam)



Movie/Album: शबनम (1964)
Music By: उषा खन्ना
Lyrics By: जावेद अनवर
Performed By: मुकेश

तेरी निगाहों पे मर मर गये हम
बांकी अदाओं पे मर मर गये हम
क्या करें, क्या करें, क्या करें

जुल्फों में ले के काली रात चले
सारा जमाना लिये साथ चले
ऐसे में जीने का मज़ा है सनम
आँखों से तेरी मेरी बात चले
बेवफ़ा एक निगाह देख ले, देख भी ले
तेरी निगाहों पे मर...

वल्लाह बेघर हूँ, बेनाम हूँ मैं
दिल ने जो भेजा वो सलाम हूँ मैं
साक़ी की जिसपे नज़र ना हुई
ऐसा ही प्यासा एक जाम हूँ मैं
बेवफ़ा एक निगाह देख ले, देख भी ले
तेरी निगाहों पे मर...

तेरी अदा का तो जवाब नहीं
मेंरी वफ़ा का भी हिसाब नहीं
सूरत तुम्हारी बड़ी खूब सही
दिल तो हमारा भी खराब नहीं
बेवफ़ा एक निगाह देख ले, देख भी ले
तेरी निगाहों पे मर...


फिर आने लगा याद - Phir Aane Lagaa Yaad (Md.Rafi, Usha Khanna, Ye Dil Kisko Doon)



Movie/Album: ये दिल किसको दूं (1963)
Music By: इकबाल कुरैशी, उषा खन्ना
Lyrics By: कमर जलालाबादी
Performed By: मो.रफ़ी, उषा खन्ना

फिर आने लगा याद वो ही प्यार का आलम
इनकार का आलम कभी इक़रार का आलम

वो पहली मुलाक़ात में रंगीन इशारे
फिर बातों ही बातों में वो तक़रार का आलम
फिर आने लगा याद...

वो झूमता बलखाता हुआ सर्व-ऐ-ख़िरामा*
मैं कैसे भुला दूँ तेरी रफ़्तार का आलम
*सर्व-ऐ-ख़िरामा = शान/ शाइस्तगी से चलने वाला

कब आये थे वो कब गये, कुछ याद नहीं है
आँखों में बसा है वो ही दीदार का आलम
फिर आने लगा याद...


मेरे प्यासे मन की बहार - Mere Pyase Man Ki Bahaar (Kishore, Asha, Honeymoon)



Movie/Album: हनीमून (1973)
Music By: उषा खन्ना
Lyrics By: योगेश
Performed By: आशा भोंसले, किशोर कुमार

मेरे प्यासे मन की बहार
कब से था तुम्हारा इंतज़ार
तुम आये तो आया करार
ओ मेरे प्यार

समां कितना प्यारा है
हाँ सनम, हाँ सनम, हाँ सनम
समां से भी प्यारा है
क्या सनम, क्या सनम, क्या सनम
तुम्हारा फूल सा, ये चेहरा दिलनशीं
छोड़ो हम जो भी है, तुम भी तो कम नहीं
मेरे प्यासे मन की बहार...

ये दिल गुनगुनाता है
क्या सनम, क्या सनम, क्या सनम
मेरे गीत गाता है?
हाँ सनम, हाँ सनम, हाँ सनम
तो छोड़ो ये अदा, गले तो मिलने दो
जल्दी है ऐसी क्या, ये दिन तो ढलने दो
मेरे प्यासे मन की बहार...

यूँ ही दूर रहना है
ना सनम, ना सनम, ना सनम
कहूँ जो भी कहना है?
हाँ सनम, हाँ सनम, हाँ सनम
तेरी बाँहों में है, मेरे दोनों जहां
कहने को हम हैं दो, लेकिन है एक जां
मेरे प्यासे मन की बहार...


मधुबन खुशबू देता है - Madhuban Khushboo Deta Hai (Yesudas, Anuradha, Hemlata)



Movie/Album: साजन बिन सुहागन (1978)
Music By:
उषा खन्ना
Lyrics By:
अमित खन्ना
Performed By: येसुदास, अनुराधा पौडवाल, हेमलता

मधुबन खुशबू देता है, सागर सावन देता है
जीना उसका जीना है, जो औरों को जीवन देता है
मधुबन खुशबू देता है...

सूरज न बन पाए तो, बन के दीपक जलता चल
फूल मिले या अँगारे, सच की राहों पे चलता चल
प्यार दिलों को देता है, अश्कों को दामन देता है
जीना उसका जीना है, जो औरों को जीवन देता है
मधुबन खुशबू देता है...

चलती है लहरा के पवन, के साँस सभी की चलती रहे
लोगों ने त्याग दिये जीवन, के प्रीत दिलों में पलती रहे
दिल वो दिल है जो औरों को, अपनी धड़कन देता है
जीना उसका जीना है, जो औरों को जीवन देता है
मधुबन खुशबू देता है...


जहाँ तू है वहाँ फिर - Jahaan Tu Hai Wahan Phir (Md.Rafi, Aao Pyar Karen)



Movie/Album: आओ प्यार करें (1964)
Music By: उषा खन्ना
Lyrics By: राजेंद्र कृष्ण
Performed By: मोहम्मद रफ़ी

बहार-ए-हुस्न तेरी, मौसम-ए-शबाब तेरा
कहाँ से ढूँढ के लाए कोई जवाब तेरा
ये सुबह भी तेरे रुखसार की झलक ही तो है
के नाम ले के निकलता है आफ़ताब तेरा

जहाँ तू है वहाँ फिर चाँदनी को कौन पूछेगा
तेरा दर हो तो जन्नत की गली को कौन पूछेगा
जहाँ तू है…

कली हो हाथ में ले कर, बहारों को न शरमाना
ज़माना तुझको देखेगा कली को कौन पूछेगा
जहाँ तू है वहाँ फिर...

फ़रिश्तों को पता देना, न अपनी रहगुज़ारों का
वो क़ाफ़िर हो गए तो बन्दगी को कौन पूछेगा
जहाँ तू है वहाँ फिर...

किसी को मुस्कुरा के ख़ूबसूरत मौत ना देना
क़सम है ज़िन्दगी की, ज़िन्दगी को कौन पूछेगा
जहाँ तू है वहाँ फिर...


दिलबर दिलबर - Dilbar Dilbar (Md.Rafi, Aao Pyaar Karen)



Movie/Album: आओ प्यार करें (1964)
Music By: उषा खन्ना
Lyrics By: राजेंद्र कृष्ण
Performed By: मोहम्मद रफ़ी

दिलबर दिलबर ओ दिलबर
हय्या हबी ओ दिलबर
तेरा शबाब उफ़ उफ़
आँखे शराब उफ़ उफ़
दीवाना तेरा हूँ इक जाम पीला दे
दिलबर दिलबर...

हुस्न-ओ-जमाल हाय तौबा
मस्ताना चाल हाय तौबा
जुल्फों के जाल हाय तौबा
आँख के डोरे ये गुलाबी
जिनसे बहारें हैं शराबी
क्यूँ ना दिलों की हो ख़राबी
दिलबर दिलबर...

दिल का करार तेरे दम से
आँखें ना फेर ऐसे हमसे
आजा बाहों में मेरी छमसे
फूलों में तुझे मैं बिठा दूँ
चाँद सितारे तुझे ला दूँ
जुरों की मल्लिका बना दूँ
दिलबर दिलबर...

सूरत पे मेरी तू ना जाना
दिल तो है प्यार का ख़ज़ाना
जिसको है तुझपे लुटाना
अल्लाह का नाम ज़रा ले ले
हँस के सलाम ज़रा ले ले
प्यार से काम ज़रा ले ले
दिलबर दिलबर...


एक सुनहरी शाम थी - Ek Sunehri Shaam Thi (Lata Mangeshkar, Aao Pyar Karen)



Movie/Album: आओ प्यार करें (1964)
Music By: उषा खन्ना
Lyrics By: राजेंद्र कृष्ण
Performed By: लता मंगेशकर

एक सुनहरी शाम थी
बहकी-बहकी ज़िन्दगी
राह में हम-तुम मिले
मेरी पलकों के तले
आशियाँ तेरा बन गया
एक सुनहरी शाम...

दो कदम मिलकर चले तो
फासले कम हो गये
प्यार ने दुनिया बदल दी
क्या से क्या हम हो गये
शोले शबनम हो गये
एक सुनहरी शाम थी...

शाम तो अब तक वही है
रंग है लेकिन जुदा
जाने किस वादी में अपना
काफ़िला गुम हो गया
फिर है दिल तन्हाँ मेरा
एक सुनहरी शाम थी...


शायद मेरी शादी का ख्याल - Shayad Meri Shaadi Ka Khayal (Lata Mangeshkar, Kishore Kumar, Souten)



Movie/Album: सौतन (1983)
Music By: ऊषा खन्ना
Lyrics By: सावन कुमार
Performed By: लता मंगेशकर, किशोर कुमार

शायद मेरी शादी का ख्याल दिल में आया है
इसीलिए मम्मी ने मेरी, तुम्हें चाय पे बुलाया है
क्या कहा फिर से दोहराओ
शायद मेरी शादी...

पंछी अकेला देख मुझे, ये जाल बिछाया है
इसीलिए मम्मी ने तेरी, मुझे चाय पे बुलाया है
क्यों है ना
नहीं नहीं

ठीक तुम चार बजे घर चले आना
मेरा हाथ मांग लेना ज़रा ना शरमाना
सात फेरे मेरे संग, सपने देख रही हो
खिली हुई धूप में, तारे देख रही हो
अरे नहीं नहीं बाबा, चाय नहीं पीना
क्यों क्यों
तौबा-तौबा मेरी तौबा, माफ़ कर देना
इन्हीं अदाओं पर तो हाय, अपना दिल आया है
इसीलिए मम्मी ने मेरी...
ना ना ना ना
पंछी अकेला देख...

दिल्लगी न करो, छेड़ो न हमको सनम
हाँ कहो, घर चलो, तुमको मेरी क़सम
जान-ए-मन माना हम, तुमपे मरते हैं
प्यार तो ठीक है, शादी से डरते हैं
शादी से पहले तो, सब अच्छा लगता है
सारी उम्र को फिर, रोना पड़ता है
इन्हीं अदाओं पर तो हाय, अपना दिल आया है
इसीलिए मम्मी ने मेरी...
अरे पंछी अकेला देख...

तुम्हें मेरी क़सम आओगे न
नहीं बिलकुल नहीं
हाँ तेरी क़सम आऊँगा


जिनके लिए मैं दीवाना बना - Jinke Liye Main Deewana Bana (Md.Rafi, Aao Pyaar Karen)



Movie/Album: आओ प्यार करें (1964)
Music By: उषा खन्ना
Lyrics By: राजेन्द्र कृष्ण
Performed By: मो.रफ़ी

जिनके लिए मैं दीवाना बना
वो भी कहते है दीवाना मुझे
या ख़ुदा या ख़ुदा
जिनके लिए मैं दीवाना...

मेमसाहब, सिगरेट

अफसाना चाहते थे, अफसाना बन गया
दीवाना चाहते थे दीवाना बन गया
वो तो शम्मा न बने मर्ज़ी ये उनकी
मैं तो हुज़ूर देखो, परवाना बन गया
या ख़ुदा या ख़ुदा
जिनके लिए मैं दीवाना...

मुफ्त में नाम खोया दिल भी गँवा बैठे
इश्क़ बुरा हो तेरा रोग लगा बैठे
जाएँ तो जाएँ कहाँ, कोई ठिकाना नहीं
दुनिया को छोड़ के तेरे डर पे आ बैठे
या ख़ुदा या ख़ुदा
जिनके लिए मैं दीवाना...

मेमसाहब सलाम

भूले से पूछ कभी, दीवाने हाल क्या है
आँखें उदास क्यूँ है, दिल में मलाल क्या है
हम तो यही कहेंगे हुस्न की खैर हो
प्यासे दीदार के हैं और सवाल क्या है
या खुदा या खुदा
जिनके लिए मैं दीवाना...


तुम अकेले तो कभी - Tum Akele To Kabhi (Md.Rafi, Lata Mangeshkar, Aao Pyaar Karen)



Movie/Album: आओ प्यार करें (1964)
Music By: उषा खन्ना
Lyrics By: राजेंद्र कृष्ण
Performed By: मोहम्मद रफ़ी, लता मंगेशकर

तुम अकेले तो कभी बाग़ में जाया ना करो
आजकल फूल भी दिलवाले हुआ करते हैं
कोई क़दमों से लिपट बैठा
तो फिर, तो फिर क्या होगा

तुम अकेले तो कभी बाग़ में जाया ना करो
आजकल कलियाँ बड़ी शोख़ हुआ करती हैं
कोई शोख़ी पे उतर आयी
तो फिर, तो फिर क्या होगा
तुम अकेले तो कभी...

तुम कभी ज़ुल्फ़ को चेहरे पे गिराया ना करो
बाज़ दिल वाले भी कमज़ोर हुआ करते हैं
कोई नागिन जो समझ बैठा
तो फिर, तो फिर क्या होगा

महफ़िल-ए-हुस्न की चिलमन को उठाया ना करो
बिजलियाँ काली घटाओं में छुपी होती हैं
कोई चुपके से चमक जाए
तो फिर, तो फिर क्या होगा
तुम अकेले तो कभी...

तुम कभी आँख में काजल भी लगाया ना करो
इनहीं आँखों के दरीचों में तो हम बसते हैं
साथ काजल के जो बह निकले
तो फिर, तो फिर क्या होगा

हुस्न वालों के मुक़ाबिल कभी आया ना करो
शरबती आँखों के डोरों में नशा होता है
बिन पिए ही जो बहक जाओ
तो फिर, तो फिर क्या होगा
तुम अकेले तो कभी...

देखो अंगड़ाई को भी बाहें उठाया ना करो
आजतक चाँद के दामन को न पहुँचा कोई
चाँद घबरा के जो गिर जाए
तो फिर, तो फिर क्या होगा

तुम ख्यालों के ये तस्वीरें बनाया ना करो
रेत पर दूर से पानी का गुमाँ होता है
उम्र भर प्यास न बुझ पाई
तो फिर, तो फिर क्या होगा
तुम अकेले तो कभी...

तुम तो आईने से भी आँखें मिलाया ना करो
आजकल ऐसी हसीं चीज़ देखी ना होगी
अपनी सूरत पर जो मर बैठे
तो फिर, तो फिर क्या होगा

तुम तो आईने से भी आँखें मिलाया ना करो
दिल न देने पे बहुत नाज़ किया करते हो
अपनी सूरत पे बिगड़ बैठे
तो फिर, तो फिर क्या होगा
तुम अकेले तो कभी...


मेरी दास्तां मुझे ही - Meri Dastan Mujhe Hi (Lata Mangeshkar, Aao Pyar Karen)



Movie/Album: आओ प्यार करें (1964)
Music By: उषा खन्ना
Lyrics By: राजेन्द्र कृष्ण
Performed By: लता मंगेशकर

मेरी दास्तां मुझे ही
मेरा दिल सुना के रोये
कभी रो के मुस्कुराये
कभी मुस्कुरा के रोये
मेरी दास्तां मुझे ही...

मिले गम से अपने फ़ुर्सत
तो मैं हाल पूछूँ उसका
शब-ए-ग़म से कोई कह दे
कहीं और जा के रोये
मेरी दास्तां मुझे...

हमें वास्ता तड़प से
हमें काम आँसुओं से
तुझे याद कर के रोये
या तुझे भुला के रोये
मेरी दास्तां मुझे ही…

वो जो आज़मा रहे थे
मेरी बेक़रारियों को
मेरे साथ-साथ वो भी
मुझे आज़मा के रोये
मेरी दास्तां मुझे ही...


तमन्नाओं को खिलने दे - Tamannaon Ko Khilne De (Lata Mangeshkar, Aao Pyar Karen)



Movie/Album: आओ प्यार करें (1964)
Music By: उषा खन्ना
Lyrics By: राजेंद्र कृष्ण
Performed By: लता मंगेशकर

तमन्नाओं को खिलने दें, इरादों को जवां कर लें
मोहब्बत का ये मौसम है, चलो गुस्ताखियाँ कर लें
तमन्नाओं को खिलने दें...

कहाँ तक आरज़ुओं को कोई दिल में दबा रखे
अगर होंठों पे पहरे हैं, तो आँखों को ज़ुबां कर लें
मोहब्बत का ये मौसम है...

कभी हम तुम पे मर बैठें, कभी तुम हम पे मिट जाओ
हमें तुम आज़मा लो, हम तुम्हारा इम्तेहां कर लें
मोहब्बत का ये मौसम है...


दिल के आईने में - Dil Ke Aaine Mein (Md.Rafi, Aao Pyar Karen)



Movie/Album: आओ प्यार करें (1964)
Music By: उषा खन्ना
Lyrics By: राजेंद्र कृष्ण
Performed By: मोहम्मद रफ़ी

दिल के आईने में तस्वीर तेरी रहती है
मैं ये समझा कोई जन्नत की परी रहती है
दिल के आईने में...

सोचता हूँ मैं कभी, क्या तुझे भी है खबर
के तेरी एक नज़र, है मेरी शाम-ओ-सहर
तू बहारों का है दिल, तू नज़ारों का जिगर
ऐ जान-ए-वफ़ा
दिल के आईने में...

शरबती आँखें तेरी, चम्पई रंग तेरा
शबनमी हुस्न तेरा, ज़िन्दगी भर का नशा
दिल की धड़कन है मेरी, तेरी पायल की तरह
ऐ जान-ए-वफ़ा
दिल के आईने में...

हुस्न-ए-मासूम तेरा कभी मग़रुर न हो
अपनी तारीफ़ तुझे कभी मंज़ूर न हो
इश्क़ वालों पे जफ़ा तेरा दस्तूर न हो
ऐ जान-ए-वफ़ा
दिल के आईने में...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com