ये नीर कहाँ से बरसे है - ye niir kahaa.N se barase hai


#हुम्मिन्ग#

(ये नीर कहाँ से बरसे है
ये बदरी कहाँ से आई है) -२
ये बदरी कहाँ से आई है

गहरे गहरे नाले गहरा गहरा पानी रे
गहरे गहरे नाले, गहरा पानी रे
गहरे मन की चाह अनजानी रे
जग की भूल-भुलैयाँ में -२
कूँज कोई बौराई है

ये बदरी कहाँ से आई है

चीड़ों के संग आहें भर लीं
चीड़ों के संग आहें भर लीं
आग चनार की माँग में धर ली
बुझ ना पाये रे, बुझ ना पाये रे
बुझ ना पाये रे राख में भी जो
ऐसी अगन लगाई है

ये नीर कहाँ से बरसे है ...

पंछी पगले कहाँ घर तेरा रे
पंछी पगले कहाँ घर तेरा रे
भूल न जइयो अपना बसेरा रे
कोयल भूल गई जो घर -२
वो लौटके फिर कब आई है -२

ये नीर कहाँ से बरसे है
ये बदरी कहाँ से आई है

#humming#

(ye niir kahaa.N se barase hai
ye badarii kahaa.N se aa_ii hai) -2
ye badarii kahaa.N se aa_ii hai

gahare gahare naale gaharaa gaharaa paanii re
gahare gahare naale, gaharaa paanii re
gahare man kii chaah anajaanii re
jag kii bhuul-bhulaiyaa.N me.n -2
kuu.Nj ko_ii bauraa_ii hai

ye badarii kahaa.N se aa_ii hai

chii.Do.n ke sa.ng aahe.n bhar lii.n
chii.Do.n ke sa.ng aahe.n bhar lii.n
aag chanaar kii maa.Ng me.n dhar lii
bujh naa paaye re, bujh naa paaye re
bujh naa paaye re raakh me.n bhii jo
aisii agan lagaa_ii hai

ye niir kahaa.N se barase hai ...

pa.nchhii pagale kahaa.N ghar teraa re
pa.nchhii pagale kahaa.N ghar teraa re
bhuul na ja_iyo apanaa baseraa re
koyal bhuul ga_ii jo ghar -2
vo lauTake phir kab aa_ii hai -2

ye niir kahaa.N se barase hai
ye badarii kahaa.N se aa_ii hai




ये नयी नयी प्रीत है तू ही तो मेरा मीत है - ye nayii nayii priit hai tuu hii to meraa miit hai


लता:		ये नयी नयी प्रीत है
तू ही तो मेरा मीत है
ना जाने कोई साजना
ये तेरी मेरी दास्तां

तलत: समा है ये प्यार का
नये इक़रार का
ना हो कोई जहाँ
बना लें वहीं आशियां

लता: ये नयी नयी प्रीत है

(लता: नज़र तुमसे मिली ऐसे
के हम शर्मा गये
तलत: पुकारा जब तेरे दिल ने
तो फिर हम आ गये ) - २
लता: कसम तुम्हें प्यार की
इसी इक़रार की
ना जाने कोई साजना
ये तेरी मेरी दास्तां
तलत: समा है ये प्यार का

(तलत: निगाहों ही निगाहों में
कहो क्या कर दिया
लता: मेरे दामन को फूलों से
ये किसने भर दिया ) - २
तलत: चलो चल दें वहाँ
ज़मीन और आसमां
गले मिलते जहाँ
बना ले वहीं आशियां

लता: ये नयी नयी प्रीत है
तू ही तो मेर मीत है
ना जाने कोई साजना
ये तेरी मेरी दास्तां

both:समा है ये प्यार का
नये इक़रार का
ना हो कोई जहाँ
बना लें वहीं आशियां
ये नयी नयी प्रीत है

lataa:		ye nayii nayii priit hai
tuu hii to meraa miit hai
naa jaane koii saajanaa
ye terii merii daastaa.n

talat: samaa hai ye pyaar kaa
naye iqaraar kaa
naa ho koii jahaa.N
banaa le.n vahii.n aashiyaa.n

lataa: ye nayii nayii priit hai

(lataa: nazar tumase milii aise
ke ham sharmaa gaye
talat: pukaaraa jab tere dil ne
to phir ham aa gaye ) - 2
lataa: kasam tumhe.n pyaar kii
isii iqaraar kii
naa jaane koii saajanaa
ye terii merii daastaa.n
talat: samaa hai ye pyaar kaa

(talat: nigaaho.n hii nigaaho.n me.n
kaho kyaa kar diyaa
lataa: mere daaman ko phuulo.n se
ye kisane bhar diyaa ) - 2
talat: chalo chal de.n vahaa.N
zamiin aur aasamaa.n
gale milate jahaa.N
banaa le vahii.n aashiyaa.n

latA: ye nayii nayii priit hai
tU hii to mera miit hai
naa jaane koii saajanaa
ye terii merii daastaa.n

##both:## samaa hai ye pyaar kaa
naye iqaraar kaa
naa ho koii jahaa.N
banaa le.n vahii.n aashiyaa.n
ye nayii nayii priit hai




ये नयन डरे डरे, ये जाम भरे भरे, ज़रा पीने दो - ye nayan Dare Dare, ye jaam bhare bhare, zaraa piine do


ये नयन डरे डरे, ये जाम भरे भरे
ज़रा पीने दो
कल की किसको खबर, इक रात होके निडर
मुझे जीने दो
ये नयन डरे डरे ...

(रात हसीं ये चाँद हसीं
पर सबसे हसीं मेरे दिलबर ) - २
और तुझसे हसीं, और तुझसे हसीं तेरा प्यार
तू जाने ना
ये नयन डरे डरे ...

(प्यार मे है जीवन की खुशी
देती है खुशी कई गम भी ) - २
मै मान भी लूँ, मै मान भी लूँ कभी हार
तू माने ना
ये नयन डरे डरे ...

ye nayan Dare Dare, ye jaam bhare bhare
zaraa piine do
kal kii kisako khabar, ik raat hoke niDar
mujhe jiine do
ye nayan Dare Dare ...

(raat hasii.n ye chaa.Nd hasii.n
par sabase hasii.n mere dilabar ) - 2
aur tujhase hasii.n, aur tujhase hasii.n terA pyaar
tU jaane nA
ye nayan Dare Dare ...

(pyaar me hai jiivan kii khushii
detii hai khushii kaI gam bhii ) - 2
mai maan bhii luu.N, mai maan bhii luu.N kabhii haar
tU maane nA
ye nayan Dare Dare ...




ये ना थी हमारी क़िस्मत के विसाल-ए-यार होता - ye naa thii hamaarii qismat ke visaal-e-yaar hotaa


ये ना थी हमारी क़िस्मत के विसाल-ए-यार होता
अगर और जीते रहते, यही इंतज़ार होता

तेरे वादे पर जिये हम, तो ये जान झूठ जाना
के खुशी से मर न जाते, अगर ऐतबार होता

तेरी नाज़ुकी से जाना के बंधा था अहद बूदा
कभी तू न तोड़ सकता, अगर उसतवार होता

कोई मेरे दिल से पूछे, तेरे तीर-ए-नीम कश को
ये खलिश कहाँ से होती, जो जिगर के पार होता

ये कहाँ की दोस्ती है के बने हैं दोस्त नासेः
कोई चारा साज़ होता, कोई गम गुसार होता

रग-ए-संग से टपकता, वो लहू के फिर न थमता
जिसे ग़म समझ रहे हो, ये अगर शरार होता

ग़म अगर-चे जाँ गुसल है, पर कहाँ बचैं के दिल है
ग़म-ए-इश्क़ गर न होता, गम-ए-रोज़गार होता

कहूँ किस से मैं के किया है, शब-ए-गम बुरी बला है
मुझे किया बुरा था मरण अगर ऐक बार होता

हुए मर के हम जो रुसवा, हुए क्यूँ न घर्क़-ए-दरया
न कभी जनाज़ा उठता, न कहीं मज़ार होता

उसे कौन देख सकता के, यगाना हे वो यकता
जो दुई की बू भी होती, तो कहीं दो चार होता

ये मसा-एल-ए-तसव्वुफ़, ये तेरा बेअन, ग़ालिब
तुझे हम वाली समझते, जो न बादह खार होता

ye naa thii hamaarii qismat ke visaal-e-yaar hotaa
agar aur jiite rahate, yahii i.ntazaar hotaa

tere vaade par jiye ham, to ye jaan jhuuTh jaanaa
ke khushii se mar na jaate, agar aitabaar hotaa

terii naazukii se jaanaa ke ba.ndhaa thaa ahad buudaa
kabhii tuu na to.D sakataa, agar usatavaar hotaa

koii mere dil se puuchhe, tere tiir-e-niim kash ko
ye khalish kahaa.N se hotii, jo jigar ke paar hotaa

ye kahaa.N kii dostii hai ke bane hai.n dost naaseH
koii chaaraa saaz hotaa, koii gam gusaar hotaa

rag-e-sa.ng se Tapakataa, vo lahuu ke phir na thamataa
jise Gam samajh rahe ho, ye agar sharaar hotaa

Gam agar-che jaa.N gusal hai, par kahaa.N bachai.n ke dil hai
Gam-e-ishq gar na hotaa, gam-e-rozagaar hotaa

kahuu.N kis se mai.n ke kiyaa hai, shab-e-gam burii balaa hai
mujhe kiyaa buraa thaa maraN agar aik baar hotaa

hue mar ke ham jo rusavaa, hue kyuu.N na gharq-e-darayaa
na kabhii janaazaa uThataa, na kahii.n mazaar hotaa

use kaun dekh sakataa ke, yagaanaa he vo yakataa
jo duii kii buu bhii hotii, to kahii.n do chaar hotaa

ye masaa-el-e-tasavvuf, ye teraa bean, Gaalib
tujhe ham vaalii samajhate, jo na baadah khaar hotaa




ये मुलाक़ात इक बहाना है - ye mulaaqaat ik bahaanaa hai


ये मुलाक़ात इक बहाना है
प्यार का सिलसिला पुराना है

धड़कने धड़कनों में खो जायें
दिल को दिल के क़रीब लाना है

ख़्वाब तो काँच से भी नाज़ुक है
टूटने से इन्हें बचाना है

मन मेरा प्यार का शिवाला है
आप को देवता बनाना है

मैं हूँ अपने सनम के बाहों में
मेरे क़दमों तले ज़माना है

ye mulaaqaat ik bahaanaa hai
pyaar kaa silasilaa puraanaa hai

dha.Dakane dha.Dakano.n me.n kho jaaye.n
dil ko dil ke qariib laanaa hai

Kvaab to kaa.Nch se bhii naazuk hai
TuuTane se inhe.n bachaanaa hai

man meraa pyaar kaa shivaalaa hai
aap ko devataa banaanaa hai

mai.n huu.N apane sanam ke baaho.n me.n
mere qadamo.n tale zamaanaa hai




ये मुहब्बत भी ... हो गया है मुझे प्यार - ye muhabbat bhii ... ho gayaa hai mujhe pyaar


ये मुहब्बत भी एक इबादत है
और ये इबादत भी एक मोहब्बत है
ये भी दीवानगी है वो भी दीवानगी है
ये भी दिल की लगी है वो भी दिल की लगी है
मुझको क्या हो गया है सबको हैरानगी है
हो गया है मुझे प्यार
अरे नहीं होना था नहीं होना था लेकिन हो गया
हो गया है मुझे ...

इस प्यार के ये किस मोड़ पर वो चल दिया मुझे छोड़ कर
आगे जा ना सकूँ पीछे जा ना सकूँ
ग़म दिखा ना सकूँ ग़म छुपा ना सकूँ
सामने तेरे आग का दरिया डूब के जाना पार
हो गया है मुझे ...

ज़माना दिलों को नहीं जानता ज़माने को ये दिल नहीं मानता
नहीं और कोई फ़क़त इश्क़ है वो
जो आशिक़ की नज़रों को पहचानता है
अब वक़्त फ़ैसले का नज़दीक आ गया है
जीने का है शौक़ तो मरने को हो जा तैयार
हो गया है मुझे ...

वापस कर आई मैं बाबुल को शादी का जोड़ा
मैने प्यार को पहन लिया है
फेंकी मैने गली में झूठी रस्मों की अंगूठी
तोड़ दिए सब लाज के पहरे मैं हर ऐब से छूटी
अपना लाल दुपट्टा मेरे दिल के खून से रंग जा
ये संगम हो जाए सागर से मिल जाए गंगा
नहीं होना था ...

ye muhabbat bhii ek ibaadat hai
aur ye ibaadat bhii ek mohabbat hai
ye bhii diivaanagii hai vo bhii diivaanagii hai
ye bhii dil kii lagii hai vo bhii dil kii lagii hai
mujhako kyaa ho gayaa hai sabako hairaanagii hai
ho gayaa hai mujhe pyaar
are nahii.n honaa thaa nahii.n honaa thaa lekin ho gayaa
ho gayaa hai mujhe ...

is pyaar ke ye kis mo.D par vo chal diyaa mujhe chho.D kar
aage jaa naa sakuu.N piichhe jaa naa sakuu.N
Gam dikhaa naa sakuu.N Gam chhupaa naa sakuu.N
saamane tere aag kaa dariyaa Duub ke jaanaa paar
ho gayaa hai mujhe ...

zamaanaa dilo.n ko nahii.n jaanataa zamaane ko ye dil nahii.n maanataa
nahii.n aur ko_ii faqat ishq hai vo
jo aashiq kii nazaro.n ko pahachaanataa hai
ab vaqt faisale kaa nazadiik aa gayaa hai
jiine kaa hai shauq to marane ko ho jaa taiyaar
ho gayaa hai mujhe ...

vaapas kar aa_ii mai.n baabul ko shaadii kaa jo.Daa
maine pyaar ko pahan liyaa hai
phe.nkii maine galii me.n jhuuThii rasmo.n kii a.nguuThii
to.D di_e sab laaj ke pahare mai.n har aib se chhuuTii
apanaa laal dupaTTaa mere dil ke khuun se ra.ng jaa
ye sa.ngam ho jaa_e saagar se mil jaa_e ga.ngaa
nahii.n honaa thaa ...




ये मौसम रंगीन समा, ठहर ज़रा ओ जान-ए-जां - ye mausam ra.ngiin samaa, Thahar zaraa o jaan-e-jaa.n


ये मौसम रंगीन समा ठहर ज़रा ओ जान-ए-जां
तेरा मेरा मेरा तेरा प्यार है तो फिर कैसा शरमाना
रुक तो मैं जाऊँ जान-ए-जां मुझको है इनकार कहाँ
तेरा मेरा मेरा तेरा प्यार सनम न बन जाए अफ़साना

ये चाँद और सितारे कहते हैं मिल के सारे
आजा प्यार करें
ये चाँद बैरी देखे ऐसे में बोलो कैसे
इक़रार करें
दिल में है कुछ कहे ज़ुबां
प्यार यही है जान-ए-जां
तेरा मेरा ...

ये प्यार की लम्बी राहें बाहों में डाले बाहें
कहीं दूर चलें
बैठे हैं घेरा डाले ये ज़ालिम दुनिया वाले
हमें देख जले
ठहर ज़रा ओ जान-ए-जां
मुझको है इनकार कहाँ
तेरा मेरा ...

ye mausam ra.ngiin samaa Thahar zaraa o jaan-e-jaa.n
teraa meraa meraa teraa pyaar hai to phir kaisaa sharamaanaa
ruk to mai.n jaauu.N jaan-e-jaa.n mujhako hai inakaar kahaa.N
teraa meraa meraa teraa pyaar sanam na ban jaae afasaanaa

ye chaa.Nd aur sitaare kahate hai.n mil ke saare
aajaa pyaar kare.n
ye chaa.Nda bairii dekhe aise me.n bolo kaise
iqaraar kare.n
dil me.n hai kuchh kahe zubaa.n
pyaar yahii hai jaan-e-jaa.n
teraa meraa ...

ye pyaar kii lambii raahe.n baaho.n me.n Daale baahe.n
kahii.n duur chale.n
baiThe hai.n gheraa Daale ye zaalim duniyaa vaale
hame.n dekh jale
Thahar zaraa o jaan-e-jaa.n
mujhako hai inakaar kahaa.N
teraa meraa ...




All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com